मौनी अमावस्या की 10 विशेषतायें | मौनी अमावस्या का धार्मिक महत्व

10 lines On मौनी अमावस्या (Mauni Amavasya in Hindi)

मौनी अमावस्या (Mauni Amavasya) पर स्नान से समस्या, डर या वहम से छुटकारा पाया जा सकता है। पूरे नियम से ये व्रत को किया जाये, तो कुंडली के सभी ग्रह दोष दूर हो सकते हैं।

मौनी अमावस्या की 10 विशेषतायें

1. अमावस्या हर माह आती है लेकिन माघ महीने में जो अमावस्या आती है उसे Mauni Amavasya कहते हैं।

2. मौनी अमावस्या के दिन गंगा स्नान का बहुत अधिक महत्व रहता है।

1. ऐसी मान्यता है कि इस दिन प्रयागराज के संगम स्थान पर देवता भी स्नान करने के लिए आते हैं ।

2. माघ का महीना भी कार्तिक महीने के समान पुण्य देने वाला महीना माना जाता है।

3. मौनी अमावस्या का नाम यह बताता है कि इस दिन मौन व्रत किया जाता है।

4. मौनी अमावस्या के दिन मौन व्रत और दान पुण्य का बहुत अधिक लाभ मिलता है।

5. ऐसा कहा जाता है कि मौनी अमावस्या के दिन ही ऋषि मनु का जन्म हुआ था।

6. इस दिन व्रत करने से सारे ग्रह दोष दूर हो जाते हैं।

7. मौनी अमावस्या के दिन मौन रहकर ईश्वर का ध्यान करना चाहिए।

8. पूरे विधि विधान से से ईश्वर का ध्यान करने पर सारे पाप नष्ट हो जाते हैं।

आज इस पोस्ट के माध्यम से अपने जाना की Mauni Amavasya के क्या महत्वता है, ऐसे ही और निबंध आपको हमारे Hindi Essay पेज पे मिलते रहेंगे।

अगर आपको हमारा ये पोस्ट पसंद आया है तो इस पोस्ट को Facebook, Instagram, और Pinterest पर share करें।

यह भी पढ़ें   होली पर संस्कृत में निबंध। Essay on Holi in Sanskrit

यदि आप हमारी Website के Latest Update पाना चाहते है, तो आपको हमारी Hindi Website को Subscribe करना होगा।

 

Leave a Comment

error: Content is protected !!