अजय देवगन का जीवन परिचय

0

अजय देवगन का परिचय | Ajay Devgan Biography in Hindi 

Ajay Devgan biography in hindi

अजय देवगन एक बहुत प्रसिद्ध भारतीय अभिनेता है, जिन्हे उनके बेहतरीन अदाकारी के लिए जाना जाता है| वह एक अभिनेता, निर्माता और निर्देशक भी है| उन्हें व्यापक रूप से हिंदी सिनेमा में उन्हें सबसे लोकप्रिय और प्रभावशाली अभिनेताओं में से एक माना जाता है|

अजय देवगन का जन्म और परिवार

अजय देवगन का वास्तविक नाम विशाल देवगन है| उनका जन्म २ अप्रैल १९६९ को दिल्ली के पंजाबी परिवार में हुआ था| अजय देवगन के परिवार का पहले से ही फ़िल्मी जगत से काफी अच्छे रिश्ते थे|

अजय देवगन के पिता का नाम वीरू देवगन है| अजय देवगन के पिता भारतीय फिल्मों में स्टंट कोरियोग्राफर और एक्शन फिल्म निर्देशक भी थे| अजय देवगन की माता का नाम वीणा देवगन है| उनकी माता की फिल्म निर्देशक थी| अजय के भाई का नाम अनिल देवगन है| अनिल एक फिल्म निर्माता और पटकथा लेखक हैं।

अजय देवगन ने अभिनेत्री काजोल से विवाह २४ फरवरी १९९९ में किया था| अजय देवगन के दो बच्चे है| एक पुत्र और एक पुत्री| पुत्र का नाम युग है और पुत्री का नाम नयसा है|

View this post on Instagram

थांबा. Danger ahead.

A post shared by Ajay Devgn (@ajaydevgn) on

नाम अजय देवगन
व्यवसाय अभिनेता, निर्माता, निर्देशक
कुल संपत्ति (Net worth) 35 मिलियन डॉलर
जन्म तारीख़ (Date of Birth) 2 अप्रैल 1969
उम्र 48 साल
नागरिकता भारतीय
स्कूल सिल्वर बिच हाई स्कूल
कॉलेज मिठीबाई कॉलेज
शिक्षा ग्रेजुएशन
ट्विटर पेज लिंक (Twitter Page) https://twitter.com/ajaydevgn?ref_src=twsrc%5Egoogle%7Ctwcamp%5Eserp%7Ctwgr%5Eauthor
फेसबुक पेज लिंक (Facebook Page) https://www.facebook.com/AjayDevgn/
इंस्टाग्राम अकाउंट (Instagram Account) https://www.instagram.com/ajaydevgn/?hl=en
पारिवारिक जानकारी
पिता का नाम (Father’s Name) वीरू देवगन
माँ का नाम (Mother’s Name) वीणा देवगन
भाई (Brother) अनिल देवगन
बहन (Sister) नीलम गाँधी
मेरिटल स्टेटस (Relationship status) विवाहित
पत्नी का नाम (Wife’s Name) काजोल
गर्लफ्रेंड (Girlfriend) रवीना टंडन, करिश्मा कपूर
Body Sturucture of Ajay Devagan 
लंबाई (Hight) 5 फीट 10 इंच
वजन (Weight) 78 किलोग्राम
बॉडी साइज़ 43-34-15
बालों का कलर काला
आखोँ का कलर काला
डेब्यूट  इनफार्मेशन
 डेब्यू फिल्म फूल और कांटे
डेब्यू फिल्म निर्माता के तौर पर राजू चाचा
पसंद और नापसंद (Like and Dislike)
पसंदिता खाना चिकन, फिश करी और चावल
पसंदिता अभिनेता एल पसीनो , अमिताभ बच्चन
पसंदिता अभिनेत्री  मधुबाला
पसंदिता खेल क्रिकेट

अजय देवगन  शिक्षा दीक्षा

अजय ने अपनी स्कूली शिक्षा जुहू के सिल्वर बीच हाई स्कूल से की है| और फिर अपना कॉलेज मीथीबाई कॉलेज मुंबई से किया|

फ़िल्मी शुरुआत

अजय देवगन का फिल्मी सफर सन 1991 में फूल और कांटे से शुरू हुआ यह पिक्चर सुपर डुपर हिट मूवी रही |यह बहुत कम लोग जानते हैं कि अजय देवगन की पहली हिंदी सिनेमा में पिक्चर बाल कलाकार के रूप में १९८५ में “प्यारी बहना” से हुई थी|

उनकी पहली पिक्चर डेब्यू थी फूल और कांटे| यह सन 1991 में रिलीज हुई थी इस पिक्चर ने काफी अच्छी कमाई की थी और यह सुपरहिट मूवी थी| उसके गाने आज भी लोगों के दिलों में हमेशा के लिए बसे हुए हैं, तुमसे मिलने को दिल करता है, धीरे धीरे प्यार को बढ़ाना है, मैंने प्यार तुम्ही से किया है बहुत प्रसिद्ध हुए| इसका संगीत नदीम-श्रवण ने दिया था और बोल समीर ने लिखे थे|

विशाल देवगन ने अपना नाम अजय रख लिया था फूल और कांटे में| उन्होंने अपना नाम इसलिए बदला था क्योंकि लोगों में भ्रम ना हो, क्योंकि उस समय मनोज कुमार जी के बेटे का नाम भी विशाल था| इस भ्रम को मिटाने के लिए उन्होंने अपना नाम अजय रख लिया और वह नाम सबको पसंद भी आया| उन्हें फूल और कांटे के लिए सर्वश्रेष्ठ पुरुष पदार्पण फिल्मफेयर पुरस्कार मिला| इस मूवी में उनके साथ अभिनेत्री मधु थी| इस पिक्चर में अजय देवगन ने दो मोटरसाइकिलों के बीच संतुलन बनाते हुए एक प्रदर्शन किय, जो की आज भी जारी है उनकी कई फिल्मों में|

उसके बाद सं १९९२ में आयी “जिगर” में उनके साथ अभिनेत्री करिश्मा कपूर थी| इस फिल्म ने सफलताओं के सारे चरण पार कर लिया और इसके सभी गाने बहुत चर्चित हुए और लोगों को बहुत पसंद आये| यह पिक्चर दिवाली के समय रिलीज हुई थी| इसके बाद १९९३ में उन्होंने “दिल है बेताब”, “दिव्य शक्तिमान” और “संग्राम” जैसी फिल्मों में शानदार अभिनय किया| उस साल “प्लेटफार्म”, “धनवान” और “बेदर्दी” आयी थी|

उसके बाद अजय देवगन ने १९९४ में संदर अभिनय किया वह थी “दिलवाले”, यह फिल्म लोगों के सरचढ़ के बोली | इस के गाने हर एक आशिक की जुबां पर रहते थे| इस फिल्म में सुनील शेट्टी और रवीना टंडन भी मुख्य भूमिका में थे| इस फिल्म का बाह चर्चित गाना “एक ऐसी लड़की थी जिसे मैं प्यार करता था” आज भी हर किसी की जुबां पे बना हुआ है| इस फिल्म में उनके किरदार का नाम अरुण सक्सेना था| इसके बाद उनकी फिल्म थी “कानून” और उसके बाद “सुहाग”| “सुहाग” में अजय के साथ अक्षय कुमार थे| ये फिल्म ने बेहतरीन प्रदर्शन किया सिनेमा घरों में| इसके बाद अजय की अगली फिल्म रही “विजयपथ”, इस फिल्म ने कामियाबी के सारे शिखर पार कर लिए| अजय को फिल्म “करण-अर्जुन” में करण के रोल के लिए चुना गया था परंतु विजयपथ फिल्म के व्यस्त कार्यक्रम के कारण उन्हें करण अर्जुन फिल्म छोड़नी पड़ी|

परंतु उनका यह निर्णय सही साबित हुआ और विजयपथ लोगों को बहुत पसंद आई| इस के गाने लोगों ने बहुत पसंद किये| इस फिल्म में संगीत अनु मलिक ने दिया था|

इसके बाद सन १९९५ में अजय ने महेश भट्ट की फिल्म नाजायज़ जिसमे अभिनेत्री जूही चावला थी और हलचल में काम किया जिसमें उनके साथ अभिनेत्री काजोल थी| अजय देवगन और काजोल ने इसी वर्ष गुंडाराज में अभिनय किया परन्तु ये फिल्म दर्शकों को पसंद नहीं आयी|

इसके बाद उनकी अगली फिल्म हकीकत थी| तब्बू के साथ ये फिल्म अच्छी चली थी|

१९९६ में जंग, जान और दिलजले फिल्म आयी थी | दिलजले देश भक्ति फिल्म थी जिसे लोगों ने बहुत पसंद किया| मेरा मुल्क मेरा देश उस समय से आज तक हर देश के तेहरो में ज़रूर बजाय जाता है| इसे अनु मालिक ने कंपोज़ किया और कुमार साणु ने आवज़ दी|

फिर सन १९९७ में अजय की इतिहास आयी जो उतनी नहीं चली, और फिर आयी “इश्क़” जो की सुपर ढुपर हिट फिल्म रही और हर किसी को पसंद आयी| इस फिल्म में अजय, आमिर, जूही और काजोल साथ में थे| ये साल की सबसे ज़ादा ४ वे नंबर पे कमाई करने वाली फिल्म थी|

फिर १९९८ में आयी “ज़ख्म”| ये फिल्म को समीक्षकों द्वारा बहुत सराहा गया| इस फिल्म के लिए उन्हें सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का पहला राष्ट्रीय फ़िल्म पुरस्कार मिला| फिर १९९९ में आयी संजय लीला भंसाली द्वारा बनाई गयी “हम दिल दे चुके सनम” जो आज भी बहुत पसंद है दर्शको को| फिर आयी “मेजर साब” अमिताभ बच्चन और सोनाली बेंद्रे के साथ जिसमे उन्होंने आर्मी अफसर का किरदार निभाया| यह फिल्म सुपर हिट रही| इसके बाद आयी “प्यार तो होना ही था”, १९९९ में ये फिल्म बहुत पसंद की गयी| इस फिल्म के गाने बहुत चले| ये फिल्म एक प्रेम प्रसंगयुक्त क्षेत्र और हास्य फिल्म थी| इसके बाद आयी थी “हिंदुस्तान की कसम” और इसके बाद “कच्चे धागे” आयी जो बहुत ही पसंद की गयी , इस फिल्म में अजय के साथ मनीषा कोइराला और सैफ अली खान थे| इसके बाद उन्होंने एक सफल कॉमेडी “होगी प्यार की जीत” में काम किया| इसके बाद अजय देवगन ने अपना खुद का प्रोडक्शन हाउस शुरू किया और खुद के द्वारा निर्मित “दिल क्या करे” काजोल और महिमा चौधरी के साथ फिल्म की| १९९९ में “गैर” और “तक्षक” फिल्म की ये औसत रही बॉक्स ऑफिस पर|

२००० के आगे का सफर

इस साल अजय ने “दीवाने” नाम की फिल्म की ये फिल्म उतनी नहीं चली| इसके बाद अजय ने खुदा का होम प्रोडक्शन खोला और फिल्म बनाई “राजू चाचा”, ये फिल्म हिट रही और बच्चो द्वारा खूब पसंद की गयी| ये फिल्म कॉमेडी, एक्शन, ड्रामा, सस्पेंस, इमोशनल से भरपूर थी|

इसके बाद २००१ में औसत हिट फिल्म आयी “यह रास्ते है प्यार के”| इसमें अजय ने डबल रोले निभाया, इसमें माधुरी दीक्षित और प्रीटी ज़िंटा साथ में थी| इसके बाद फिल्म आयी “लज्जा” जिसमे साथी कलाकार मनीषा कोइराला, माधुरी दीक्षित, जैकी श्रॉफ, अनिल कपूर साथ में थे| इस फिल्म के लिए अजय को फ़िल्म्फरे का सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेता पुरस्कार के लिए नामांकित किया गया थ, पर फिल्म उतनी चली नहीं थी पर गाने खूब चले थे| इसके बाद आयी थी “तेरा मेरा साथ रहे”|

इसके बाद २००२ में अजय ने नकारात्मक किरदार निभाया फिल्म “कंपनी” में, इस फिल्म के लिए उन्हें फिल्मफेयर सर्वश्रेष्ठ अभिनेता पुरस्कार के लिए नामांकित किया गया था और उन्हें सर्वश्रेष्ठ अभिनेता के लिए फिल्मफेयर क्रिटिक्स अवार्ड से सम्मानित किया गया था| इसके बाद अजय की फिल्म थी “हम किसी से कम नहीं” इसमें उनके साथ ऐश्वर्या राय, अमिताभ बच्चन और संजय दत्त थे|

इसके बाद अजय ने शहीद भगत सिंह की जीनी निभाते हुए “दी लीजेंड ऑफ़ भगत सिंह” फिल्म की| इनके अभिनय को बहुत सराहा गया था| इस फिल्म ने २ राष्ट्रीय पुरस्कार जीते जिसमें सर्वश्रेष्ठ फिल्म के लिए राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार और हिंदी में तीन फिल्मफेयर पुरस्कार शामिल हैं, जिसमें सर्वश्रेष्ठ फिल्म के लिए फिल्मफेयर क्रिटिक्स अवार्ड भी शामिल है।

ये दूसरी बार अजय देवगन को राष्ट्रीय पुरस्कार प्राप्त हुआ था|

इसके बाद अजय ने अनीस बज्मी की “दीवानगी” में अभिनय किया। यह फिल्म विलियम डाइहाल के उपन्यास “प्रिमल फियर” से प्रेरित थी। फिल्म ने अजय ने मानसिक रूप से खतरनाक और हिंसक व्यक्ति का किरदार निभाया था| इसके लिए उन्हें कई पुरस्कार मिले, जिसमें एक फिल्मफेयर सर्वश्रेष्ठ खलनायक पुरस्कार और सर्वश्रेष्ठ खलनायक के लिए स्टार स्क्रीन पुरस्कार और एक नकारात्मक भूमिका में सर्वश्रेष्ठ अभिनेता के लिए ज़ी-सिने पुरस्कार शामिल थे। फिल्म बॉक्स ऑफिस पर सफल रही थी।

अजय ने फिर २००३ में एक डरावनी फिल्म “भूत” की| इसमें उनके साथ उर्मिला मढोडकर थी| यह फिल्म अच्छी चली थी| इसके बाद अजय ने “कयामत – सिटी अंडर थ्रेट” में काम किया जिसमें उनकी सह अभिनेत्री नेहा धूपिया थी| यह फिल्म भी दर्शकों को बहुत पसंद है और इसके गानेआज भी लोगों की जुबान पर रहते हैं| इसका बहुत ही मशहूर गीत “वो लड़की बहुत याद आती है” हर कोई गुनगुनाता है|

इसके बाद अजय ने “चोरी-चोरी” फिल्म की जिसमें उनके साथ रानी मुखर्जी और सोनाली बेंद्रे थी| यह फिल्म उतनी नहीं चली| इसके बाद अजय ने फिल्म “गंगाजल” की, यह फिल्म प्रकाश झा ने बनाई थी| यह फिल्म बिहार के भागलपुर में हुए गुंडागर्दी की घटनाएँ से प्रेरित थी| यह फिल्म ने लोगों के दिमाग पे अलग ही छाप छोड़ी| इस फिल्म में बेहतरीन प्रदर्शन के लिए अजय को फिल्मफेयर सर्वश्रेष्ठ अभिनेता पुरस्कार के लिए नामांकित किया गया था। इसके बाद उन्होंने रोहित शेट्टी के निर्देशन में डेब्यू “ज़मीन” और जे.पी दत्ता की देशभक्तिपूर्ण फ़िल्म “एलओसी” कारगिल में काम किया।

इसके बाद २००४ में “ख़ाकी” जिसमे अजय ने नकारात्मक किरदार निभाया| इस फिल्म में नेतृत्व किरदार में अक्षय कुमार, अमिताभ बच्चन, ऐश्वर्या राय थे| यह फिल्म साल की बेहतरीन फिल्मों में से एक थी| इसके बाद वह मस्ती और युवा में नज़र आये|

फिर २००५ में इन्सान, ब्लैकमेल, मैं ऐसा ही हूं, टैंगो चार्ली और शिखर में अच्छा काम किया। और बाद में काल और अपहरान फिल्म में अच्छा प्रदर्शन किया। अपहरान के लिए अजय देवगन को सर्वश्रेष्ठ अभिनेता के लिए राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार और सर्वश्रेष्ठ अभिनेता के फिल्मफेयर पुरस्कार के लिए नामांकित किया गया था| काल में खलनायक में उनके प्रदर्शन के लिए उन्हें फिल्मफेयर सर्वश्रेष्ठ खलनायक पुरस्कार के लिए नामांकन दिलाया गया|

इसके बाद २००५ में ओमकारा नाम की फिल्म की यह फिल्म मशहूर लेखक विलियम शेक्सपियर के उपन्यास ऑथेलो से ली गयी थी| इसके बाद २००६ में अजय बिकुल हटके हास्य फिल्म “गोलमाल” की, यह फिल्म बेहतरीन हास्य फिल्मों में से एक है| यह फिल्म लोग बार बार देखते रहते है| इसी वर्ष अजय ने एक लघु वृत्तचित्र फिल्म की थी| यह फिल्म मुंबई में आयी बाढ़ की आपदा पे आधारित थी|

अजय की अगली फिल्म “रेनकोट” थी| साथी अभिनेत्री ऐश्वर्या राय थी| फिल्म ओ हेनरी की द गिफ्ट ऑफ द मैगी का रूपांतरण थी। इस फिल्म को हिंदी में सर्वश्रेष्ठ फीचर फिल्म का राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार मिला था| २००४ में, अजय ने टार्ज़न – थे वंडर कार में छोटा पर महत्वपूर्ण किरदार निभाया|

इसके बाद अजय ने २००६ में हास्य फिल्म गोलमाल की जो की आज भी सबको बहुत पसंद है| इसके आगे के भाग भी बने गोलमाल रीटर्न २००८, गोलमाल ३ २०१०, और गोलमाल अगेन २०१८ में आयी ये शृंखला लोगों की पसंद आती है|

इसके बाद २००८ में आयी हल्ला बोल, संडे २००८, और काजोल और अजय के द्वारा निर्माणित यू मी और हम फिल्म की थी| २००८ में एक फिल्म आयी थी मेहबूबा जो की ५-७ साल बाद रिलीज़ हुयी थी| २००९ में आयी “आल थे बेस्ट”|

Ajay Devgan biography in hindi

२०१० में आयी वन्स अपॉन अ टाइम इन मुम्बाई, गोलमाल ३, अतिथी तुम कब जाओगे, आक्रोश, और एनिमेटेड फिल्म तानपुरा का सुपर हीरो, राजनीति, सिंघम २०११, बोल बच्चन २०१२ में और सन ऑफ़ सरदार, दिल तोह बच्चा है जी, रेडी, रास्कल्स, तेज़्ज़ २०१२, सिंघम रिटर्न्स २०१४ और दृश्यम २०१५ में आयी थी| २०१२ में बोल बच्चन, दृश्यम २०१५ में, २०१६ में शिवाय, २०१७ में बादशाहो, 2018 में गोलमाल अगेन, इसी वर्ष रैड भी फिल्म आयी थी अजय की| हाल ही में कुछ हफ्तों पहले अजय ने टोटल धमाल फिल्म की यह बहुत चली|

उनकी अगली आने वाली फिल्म दे दे प्यार दे २०१९ है और तुर्रम खान २०१९ है|

जुड़े रहे hindi.todaysera.com के साथ !

READ  सरोजिनी नायडू के विचार Sarojini Naidu Quotes in Hindi