Adidas Kis Desh Ki Company Hain? | Adidas किस देश की कंपनी हैं?

Adidas Kis Desh Ki Company Hain? | Adidas किस देश की कंपनी हैं?

Adidas आज के समय मे एडीडास को हर कोई जानता है प्यूमा एवं Nike के साथ साथ विश्व में अपना बहुत बड़ा  नाम है। वर्तमान समय मे लोग इस एडीडास  के ब्रांड को ना केवल इसके फुटवियर के लिये जानते है, बल्कि इसके Sportswear और कपड़े भी लोगो  को बहुत  पसंद आ रहे है। इस व्यवसाय को दो भाइयों ने मिलकर जमाया था। औऱ फिर आपसी मतभेद ने दुनिया को Adidas तथा Puma जैसे दो नये एवं बेहतरीन ब्रांडों से अवगत कराया।

Adidas Kis Desh Ki Company Hain? | Adidas किस देश की कंपनी हैं?

किस देश की कंपनी हैं Adidas

यह एक जर्मन मल्टीनेशनल कारपोरेशन है, जिसको पूरी दुनिया Adidas ब्रांड के नाम से पहचानती है। इस कंपनी की स्थापना दो भाइयों अडोल्फ दसलेर और रूडोल्फ दसलेर ने मिलकर जुलाई 1924 में की।लेकिन बाद में जब दोनों अलग हुये, तब 18 अगस्त 1949 को अडोल्फ ने Adidas को स्थापित किया। इस प्रकार इस ब्रांड के संस्थापक के रूप में अडोल्फ दासलेर को जाना जाता है। यह ब्रांड के न केवल जूते बल्कि इसके अलावा कपड़े, खेल के कपडे एवं  खेल के सामान के निर्माण का कार्य करता है। अपने ग्राहकों को उनकी पसंद के अनुसार, अपने उत्पाद बेचने के लिए, यह डिज़ाइन के कार्य मे भी निपुण है।

वर्तमान समय मे Adidas, यूरोप का सबसे बड़ा खेल के कपड़े बनाने वाली एक बहुत बड़ी कंपनी है। इसके अलावा  इसकी विश्व स्तर पर बात करें तो, यह Nike के बाद विश्व का दूसरा सबसे बड़ा स्पोर्टवेअर निर्माता है। इसके उत्पाद यूरोप के अलावा दुनिया के बाकी अन्य हिस्सों में भी बड़ी मात्रा में उपयोग में लाये जाते है। दुनियाभर में बढ़ते स्पोर्ट कल्चर के कारण इसके प्रोडक्ट की मांग बाजार में सदैव बनी रहती है। इसके प्रबंधन की देखरेख करने के लिऐ वर्तमान समय मे कास्पर रोरस्टेड इसके CEO के पद पर आसीन है, जबकि ल्गोर लान्दू  इस निगम के वर्तमान चेयरमैन है।

यह भी पढ़ें   गणित के जनक कौन है? I Who Invented Mathematics in Hindi

एडिडास की शुरुआत कहाँ से ओर कब हुई

इस ब्रांड का नाम Adidas, इसके संस्थापक एडोल्फ दसलेर के निकनेम “Adi” तथा Dazzler के शुरुआती तीन शब्द “Das” को जोड़कर बनाया। इन दोंनो भाइयों ने जुलाई 1924 में एक साथ मिलकर एक शूज फैक्टरी की स्थापना की थी। जिसको उन्होंने गेब्रूडर दासलेर सचुहफब्रिक (Gebrüder Dassler Schuhfabrik )का नाम दिया था। इस कंपनी की शुरुआत उन्होंने विश्व युद्ध से लौटने के बाद प्रारंभ की। प्रारम्भ में  फैक्ट्री के लिये जगह का  बहुत अभाव था।

तो उन्होंने जूते निर्माण का काम अपनी माँ के लुंडरी रूम  में प्रारंभ किया।  हेरजोगेनौरच में उस दौरान बिजली की बड़ी कटौती रहती थी, जिसके परिणामस्वरूप उनको बहुत बार पेडल पॉवर का प्रयोग करना पड़ता था। उस समय में यह एक मात्र फैक्टरी थी, जो स्पोर्ट शूज का निर्माण करती थी। इन भाइयों ने उस दौरान बेहतरीन स्पिकेड रनिंग शूज बनाने में ध्यान लगाया। उन्होंने हैवी मेटल वाले स्पिक्स को कैनवास  तथा रबर का प्रयोग करके नया रूप प्रदान किया।

इसके बाद 1936 में समर ओलंपिक  हुये जिसके लिये दोनों भाई, एक सूटकेस में स्पीक्स लेकर बर्लिन पहुँचे। जहाँ उन्होंने यूनाइटेड स्टेट्स के धावक जइसे ओवेन्स को उन स्पिक्स का उपयोग करने को राजी किया। ओवेन्स ने उन जूतों को पहनकर 4 गोल्ड मेडल्स जीते, जिसके बाद उनके व्यापार ने तेज़ी से रफ्तार पकड़ी। इसका असर यह हुआ कि विश्व युद्ध II से पहले उनकी सालाना कमाई 200,000 जूतों के जोड़े हो गई।

इसके उपरांत दोनों भाइयों ने नेशनल सोशलिस्ट जर्मन वर्कर्स पार्टी में शामिल हो गए । यही  से इन दोनों भाइयों  के बीच मतभेद बढ़ने लगे। इसका नतीजा यह हुआ, कि दोनों को 1947 में अपने व्यवसाय का बंटवारा करना पड़ा। रुडोल्फ दासलेर  ने  Ruda नाम से अपनी एक कंपनी की शुरुआत की। जिसको वर्तमान समय मे Puma के नाम से पहचाना जाता है।

यह भी पढ़ें   फ्रांस की राजधानी (France Ki Rajdhani) क्या है? | what is the name of Capital of France?

18 अगस्त  1949 को एडोल्फ ने अपनी एक पृथक कंपनी को स्थापना की, जिसको आज ‘Adidas ‘के रूप में दुनिया जानती है। इस प्रकार एक ही परिवार से आज, दुनिया की दो सबसे बढ़िया जूते बनाने वाली कंपनियां मिली।

Adidas के मालिक

जैसा कि अक्सर देखने मे आता है, कि Multinational Companies के मालिक कई सारे शेयर होल्डर होते है, जो छोटी-बड़ी मात्रा में Shares खरीद लेते है। इस कंपनी के भी अनेकों अंशधारी है, लेकिन उन सभी के हिस्से बेहद छोटे है, इसलिए किसी एक को इसका मालिक बताना उचित नही होगा। इसके हिस्सेदारो में Loevner LP, Parametric Portfolio Associates Ltd, एवं Axis Asset Management Co. Ltd. कुछ मुख्य है।

 

ऐसे ही और जानकारी के लिए जुड़े रहे हमारी वेबसाइट Hindi Todaysera से।

error: Content is protected !!