Short Essay on Crow in Hindi | कौआ पर निबंध हिंदी में

Short Essay on Crow in Hindi | कौआ पर निबंध हिंदी में

Crow पर निबंध पड़ेंगे कौवा दोस्तों यह निबंध कुछ इस तरीके से बनाया गया है कि इसको कक्षा 12 45 6 7 8 9 10 तक के लोग पढ़ सकते हैं  कौवा एक साधारण पक्षी होता है जो कि दिखने में काला होता है कौवे की गर्दन स्लेटी कलर की होती है कौवा के 2 पैर होते हैं कौवा के पंजे नुकीले होते हैं यह दूसरे पक्षियों  के तुलना में कुछ ज्यादा ही चालाक होता है।

कौवे की एक सूची होती है कौवा एक बहुत ही बुद्धिमान और चतुर प्राणी है कौवा सभी जगह पूरे संसार में पाया जाता है कौवे की आवाज बहुत तिथि होती है इसकी वजह से कुछ लोग इसे पसंद नहीं करते कौवा साड़ी वाली वस्तुएं खाता है जिससे कवि के द्वारा सफाई रखने में मदद मिलती है जिसके द्वारा हम यह कह सकते हैं कौवा परमाणु को पर्यावरण को शुद्ध बनाए रखने में हमारी मदद करता है जिससे हम सबकी रक्षा होती है

Short Essay on Crow in Hindi | कौआ पर निबंध हिंदी में

Crow एक चालाक पक्षी होता है इसमें बहुत सारे गुण होते हैं तो वह विशेष तौर से सफाई करने में मदद करता है कौवा की बहुत सारी प्रजातियां होती है यह अलग अलग देशों में अलग अलग जातियों के रूप में पाया जाता है इसका वैज्ञानिक नाम corvus होता है राजस्थान में कौए को कागला भी कहा जाता है और मारवाड़ी में स्कोर हाडा भी बोलते हैं कव्वाली अलग मान्यता होती ऐसा माना जाता है जब रात होती है खाना खा लेता है ऐसा समझा जाता है कि पूर्वजों को मिल गया।

यह भी पढ़ें   10 Lines on Father in Hindi | पिता पर 10 अनमोल वाक्य

कौवा की चोंच काले कलर की होती जोकि बहुत मजबूत होती है कौवे का बजन 500 ग्राम – 1.5KG तक होता है कौवे का आकार 17 से 19 इंच के बीच में होता है कौवा की दो छोटी आंखें होती है इससे देख सकता है इसकी चोंच बहुत ही सख्त होती है जिससे सड़ी गली हुई चीजों को बहुत ही आसानी से खा लेता है कौए के  दोनों तरफ पंख होते हैं जिसकी मदद से या आसमान में उड़ कर एक जगह जगह पर चला जाता है

Crow चट्टानों पर झुण्ड बनाकर रहते हैं यह झूठ में रहना पसंद करते हैं Crow किसी भी तरह का खतरा लाल होता है कहां हो कहकर पुकारना शुरू कर देते हैं एक बहुत ही बहादुर बच्ची होता है कौवा मुख्य रूप से कांव-कांव करता है

Crow के बहुत ही हल्के हल्के बाल होते हैं जिससे अपनी किसी भी मौसम सर्दी या गर्मी में बरसात में अपने आप की रक्षा कर पाता है|

मुख्य रूप से साड़ी वाली चीजें मांस कीड़े मकोड़े अनाज फन फल फल मछली और मत वस्तुएं खाता है यह काया भैंस के ऊपर भी बैठता है जिसके ऊपर से कीड़े मकोड़े भी खा लेता है कौवे को बहुत सारे लोग अच्छे नसीब पहले भी मानते हैं और कुछ इसको बुरा भी पूरा मतलब नसीब में बुरा नहीं माना जाता है मुख्य रूप से दोनों तरीके भोजन खा सकता है या मांसाहारी और शाकाहारी दिखा देता है रोटी खा लेता है |

कौए  की 40 से अधिक प्रजातियां पाई जाती हैं कौआ कोयल क द्वारा बहुत ही आसानी से बेवकूफ यानि की मुरक बना दिए जाते हैं कौवा अपना अंडा समझ कर कोयल के अंडे के ऊपर बैठ जाता है जिससे कि उसी तरह की पक्षी का जन्म होता है जिसे डाव भी  कहा जाता है|

यह भी पढ़ें   बाल मजदूरी पर निबंध – Essay on Child Labour in Hindi

नर और मादा दोनों ही प्रकार के कौए पाए जाते हैं क्योंकि प्रजनन करते हैं तो एक पक्षी का जन्म होता है दोनों ही मिलकर अपने बच्चे को पालते हैं|

किसी भी व्यक्ति के सिर पर कौवे का बैठना अच्छा नहीं माना जाता है इसे एक मृत्यु का संकेत भी मानते हैं बट यह एक सिर्फ मिथ्या है शास्त्रों में इसका उपाय भी है इसमें विचारे कुए की कोई गलती नहीं या सिर्फ एक मानना के रूप में होता है|

यदि कौवा सिर पर बैठ जाए तो तुरंत रो लेना चाहिए दोस्तों इतना ही नहीं है तो वे को एक शुभ संकेत भी माना गया है|

Crow अगर घर की छत पर बैठकर रोज कांव-कांव कर रहा है तो ऐसा माना जाता है कि किसी की मेहमान के आने की खबर है या घर पर किसी भी नए व्यक्ति का जन्म हो सकता है या कोई शुभ कार्य जैसे शादी की नौकरी भी लग सकती है दोस्तों का एक बहुत ही अच्छा पक्षी जो कि मुख्य रूप से पर्यावरण को शुद्ध बनाने की काम में आता है और अपने चाओ तरफ क पर्यावरण को शुद्ध बनाये रखता हैं दोस्तों आजकल बहुत ही कम दिखाई दे रहे हैं जिसका मुख्य कारण आज का वातावरण और दोस्तों हमें कौवे को विलुप्त होने से बचाना है क्योंकि कौवा एक दूसरों को बहुत सुंदर आता है लेख पढ़कर आपको बहुत अच्छा लगा होगा|

 

इस पोस्ट को जितना हो सके social media में ज्यादा से ज्यादा share करें। जिस से ज्यादा से ज्यादा लोग इस गुजरात राशन कार्ड योजना के बारे में जान सके। यदि आप हमारी website के latest update पाना चाहते है तो आपको हमारी Hindi Todaysera की website को subscribe करना होगा। 

error: Content is protected !!