Mukhyamantri Dal-Bhat Yojana | मुख्यमंत्री दाल भात योजना 2020-21

Mukhyamantri Dal-Bhat Yojana | मुख्यमंत्री दाल भात योजना 2020-21

दोस्तों आज हम Mukhyamantri Dal-Bhat Yojana क्या है और इसे क्यों शुरू किया गया है क्या होंगे आप लोगो को इस योजना के फायदे इस बारे में आप लोग जानेंगे ,अगर आप लोगों को नहीं पता है कि मुख्यमंत्री दाल भात योजना क्या है और किन लोगों  के लिए है, और इस योजना में नया क्या है इस बारे के बताएंगे हम आपको।

मुख्यमंत्री दाल भात योजना 

जैसा कि आप सब जानते ही है कि देश मे चल रहे कोरोना वायरस कि महामारी की वजह से पूरे देश मे लॉकडाउन हो गया है, जिसकी वजह से बहुत से ऐसे लोग है जिन्हें एक टाइम का भी खाना नहीं मिल पा रहा है। जिसको देख कर झारखंड के  पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुन मुंडा द्वारा  मुख्यमंत्री दाल-भात योजना शुरू की गई और अब इस योजना को  मुख्यमंत्री कैंटीन योजना के नाम से चलाया जा रहा है। इस योजना के अंतर्गत जितने भी  निर्णय वो राज्य कैबिनेट की बैठक में लिया गया।और अब इसकी शुरुआत झारखंड के  रांची जिले से होगी। गौरतलब है कि इस योजना के चलते  गरीबों को पांच रुपये में दाल-भात और सब्जी दी जाती है।

Mukhyamantri Dal-Bhat Yojana | मुख्यमंत्री दाल भात योजना 2020

मुख्यमंत्री दाल भात योजना में अब क्या नया डाला गया है।

Mukhyamantri Dal-Bhat Yojana की शुरुआत में इसके पहले चरण में रांची में इसके लिए एक बेस किचन, 18  केंद्र जो कि 10 मोबाइल वैन के जरिये  से भोजन को लोगो मे बाटे जाने की व्यवस्था होती होगी। रांची जिले के शहरी इलाकों में दिन में चलने वाले 11 केंद्र होंगे जिनमें से दो  केंद्र रात को  खोले जाएंगे। इसके साथ साथ  नगर पंचायत में एक केंद्र और ग्रामीण इलाकों में 17 केंद्र भी खोले जाएंगे।

जितने भी शहरी इलाके के केंद्र में रोज़   400 लोगों और रात को  हर 200 लोगों के खाने की व्यवस्था होगी और नगर पंचायत के एक केंद्र में  300 लोगों को खाने की सुविधा होगी एवं ग्रामीण इलाकों में एक केंद्र पर 200 लोगों के खाने की व्यवस्था होगी।वैसे तो इसकी एक प्लेट भोजन 20 रुपये होगी  जिसमें से पांच रुपये जिनको खाना चाहिए वो देंगे और बाकी बचे हुए  15 रुपये सरकार सब्सिडी देगी। इसकी भोजन की एक प्लेट में 200 ग्राम चावल, दाल और सब्जी होगी।

मुख्यमंत्री दाल भात योजना को क्यों किया गया नया?

यह योजना अर्जुन मुंडा के मुख्यमंत्रित्व काल में शुरू हुई थी. इसमे गरीब  लोग के लिए   काफी मददगार ओर लाभकारी  भी हो रहे थे,लेकिन हेमंत सोरेन के मुख्यमंत्रित्व काल में इस योजना के खिलाफ थे  क्योंकि राज्य सरकार ने इस योजना के लिए फंड के आवेदन में बिल्कुल भी इंटरेस्ट नहीं लिया गया। जिसकी वजह से कुछ एक दो ही ऐसे  केंद्र थे जो कि काम कर रहे थे, लेकिन रघुवर सरकार के नए फैसले से इस योजना को नया जीवन दिया और फिर से इस योजना को शुरू किया  और  साथ ही गरीबों को फिर से महज पांच रुपये में खाना नसीब होने की राह भी प्रशस्त हो जाएगा।

मुख्यमंत्री दाल भात केंद्र ने  200 परिवारों को कराया गया भोजन

बेंगाबाद प्रखंड के स्कूल में  छोटकीखरगडीहा में रविवार को Mukhyamantri Dal-Bhat Yojana केंद्र एवं लक्ष्मी स्वयं सहायता समूह के बैनर तले खोला गया। जिसका उद्घाटन मुखिया महेंद्र प्रसाद वर्मा ने की। कहा कि कोरोना से निपटने के लिए जहां सरकार युद्ध स्तर पर हर प्रकार की सुविधाएं प्रदान कर रही है वहीं दाल-भात केंद्र के खुलने से गरीबों को मुफ्त में भोजन मिलेगा जिससे गरीब लोगों का भूख मिट जाएगा। कहा कि सरकार की यह महत्वाकांक्षी योजना बहुत ही लाभदायक है।

ऐसे गरीबों लोगों  के लिए दाल-भात केंद्र बहुत ही उपयोगी प्रमाणित साबित  हो रहा है।सरकार का यह कहना है  कि इस वैश्विक महामारी से निपटने के लिए आपको अपने पूरे परिवार के साथ अपने घरों में सुरक्षित रहें और लोगों को भी जागरूक करने का काम भी करा जा रहा है। इस महामारी के मौके पर लोगो की मदद के  लिए  अध्यक्ष कांति देवी, सचिव धनेश्वरी देवी, सहयोगी पूरन साह, मोहन राणा, तिलक तुरी, रसोइया रूक्मणी देवी, शकुंतला देवी, डिलिया देवी, सुनील कुमार, सुभाष राणा, बाबूचंद साहू सहित के सारे  लोग मदद करने के लिए  कई लोग मौजूद  रहे।

मुख्यमंत्री दाल भात योजना के फायदे क्या है?

इस योजना में  झारखंड के  वासी को कम प्रवासियों को ज्यादा फायदा होने की संभावना होती  है।उनके लिए यह योजना एक वरदान बन कर आई है क्योंकि जो लोग, रांची के अलावा   झारखंड के ऐसे जितने भी जिले है ओर उनमें मजदूर है जो कि काम करने के लिए आए थे और इस महामारी के लॉकडाउन की वजह से वो लोग फस गए है। उन लोगो के लिए अब आसानी से खाने की समस्या दूर हो जाएगी और उन लोगो के लिए खाना  उपलब्ध हो पायेगा

आप गुगल में उन्हें मुख्यमंत्री दाल-भात केंद्र या सिर्फ दाल-भात केंद्र भी सर्च करने से सही लोकेशन की जानकारी  मिल जाएगी और आप वहाँ जाकर अपने खाने कि व्यवस्था कर सकते है।आपको गूगल के जरिये यह जान सकते है कि  केंद्रों कब खुलेंगे इस जानकारी से लेकर कब बंद होने  के समय की पूरी जानकारी मिल पाएगी।

 

यह भी पढ़ें   मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना I ऑनलाइन आवेदन I Muhkyamantri Yuva Swarozgar Yojana

आज की पोस्ट के माध्य्म से आपने जाना कि मुख्यमंत्री दाल भात योजना के गरीब लोगों के लिए क्या फायदे है इस पोस्ट के दौरान हमने आपको यह भी बताया कि मुख्यमंत्री दाल भात योजना के अंतर्गत जितने भी केंद्र आते है उनकी जानकारी किस प्रकार प्राप्त कर सकते है। आशा करते है कि आपने इस पोस्ट के बारे में सारी जानकारी प्राप्त की होगी।

यदि आप हमारी Hindi website के latest update पाना चाहते है तो आपको हमारी Hindi Todaysera की website को subscribe करना होगा।

error: Content is protected !!