विश्व की सबसे पुरानी भाषा कौन सी है? | भारत की सबसे प्राचीन भाषा कौन है?

हेलो दोस्तों आज हम विश्व की सबसे पुरानी भाषा कौन सी है? | भारत की सबसे प्राचीन भाषा कौन है? के बारे में जानेंगे यह एक G.K. का बहुत ही महत्वपूर्ण का सवाल है|

विश्व की सबसे पुरानी भाषा कौन सी है?:तमिल

विश्व की सबसे पुरानी भाषा कौन सी है

पूरे विश्व में सबसे प्राचीनतम भाषा कौन सी है, सबको यही लगता होगा कि संस्कृत ही है जो शायद सबसे पुरानी भाषा है पर ऐसा नहीं है। पूरे विश्व की सबसे प्राचीन भाषा हमारे देश के ही एक हिस्से की है।और यह हमारे लिए गर्व की बात है।विश्व की सबसे प्राचीन भाषा है तमिल।

हम सभी जानते हैं कि तमिल तमिलनाडु की आधिकारिक भाषा है। तमिल भाषा तमिलनाडु के साथ-साथ देश के और भी कई राज्यों केरल, कर्नाटका, आंध्र प्रदेश, दिल्ली, गुजरात, असम और जहां भी तमिल भाषी लोग निवास करते है, वहां बोली जाती है। भारत देश के अलावा तमिल भाषा सिंगापुर, श्रीलंका, मॉरीशस, इराक, इरान, मलेशिया, वियतनाम, रियूनियन, जॉर्डन, सऊदी अरेबिया, यूनाइटेड अरब एमिरेट्स, कुवैत, लेबनान, ओमान, इजिप्ट देशों में भी बोली जाती है।

सिंगापुर और श्रीलंका में तो तमिल भाषा को भारत की तरह ही आधिकारिक भाषा घोषित किया हुआ है। सिंगापुर में तमिल भाषा के लिए एक आप भी लॉन्च किया है।लगभग 7 करोड लोग तमिल भाषा का प्रयोग मातृ भाषा के रूप में करते है। तमिल भाषा भारत की पहली ऐसी भाषा है जिसको भारत सरकार द्वारा 2004 से शास्त्रीय भाषा का दर्जा प्राप्त है।भारतीय संविधान में सूचीबद्ध 18 भाषाओं में तमिल भाषा को भी स्थान प्राप्त है।तमिल भाषा तमिलनाडु और पुडुचेरी की राजभाषा भी है।

तमिल भाषा विश्व की सबसे प्राचीन भाषा है और इसको द्रविड़ परिवार की भी सबसे प्राचीन भाषा माना जाता है। इस भाषा का उदय कब हुआ होगा?इसकी उत्पत्ति का काल क्या रहा होगा?इसको लेकर तथ्य आज तक भी साफ नहीं हो पाए है।विश्व के अनेक विद्वानों ने संस्कृत, ग्रीक और लैटिन भाषा के साथ तमिल को भी सबसे प्राचीन भाषा माना है।

तमिल भाषा की उत्पत्ति लगभग 5000 वर्ष पहले से मानी जाती है और तमिल भाषा 2500 वर्षों से व्यावहारिक तौर पर आज भी बोली और लिखी जाती हैं। इस भाषा को प्राचीन काल से लेकर वर्तमान काल तक जीवंत भाषा के रूप में देखा गया है। तमिल भाषा मैं उपलब्ध ग्रंथों के आधार पर यह निर्विवाद निर्णय लिया जा चुका है कि तमिल भाषा ईसा से कई सौ वर्ष पहले ही सुसंस्कृत और सुव्यवस्थित हो गई थी। तमिल भाषा के जो आरम्भिक शिलालेख पाए गए थे उनसे भी यह स्पष्ट होता है कि वह तीसरी शताब्दी ईसा पूर्व के आसपास के है।

Which is the oldest language in the world?:Tamil

संगम साहित्य एकमात्र ऐसा साहित्यक स्रोत है जो तमिल भाषा की उत्पत्ति पर सर्वप्रथम विस्तृत और स्पष्ट प्रकाश डालता है।अन्य भाषाओं की वर्णमालाओं की तुलना में तमिल भाषा की वर्णमाला सबसे छोटी वर्णमाला है। तमिल भाषा की वर्णमाला में 12 स्वर 18 व्यंजन और एक विसर्ग सदृश अर्ध स्वर है।

विश्व की सबसे प्राचीनतम भाषा के दो आधार है जैसे जो प्राचीन भाषा है किन्तु अब वह उपयोग में नहीं है इस तरीके की भी हमारी कई प्राचीन भाषाऐं है जो सबसे पुरानी प्राचीन भाषाओं में शामिल है।लेकिन वर्तमान समय में दैनिक उपयोग में नहीं है।किन्तु तमिल एक ऐसी भाषा है जो लगभग 3000 वर्षों से लेकर वर्तमान समय तक सामान्य बोलचाल और व्यवहारिक तौर पर उपयोग में लाए जाने वाली भाषा है।भारत देश में तमिल भाषा बोलने वाली एक बहुत बड़ी आबादी रहती है इसीलिए हमारे भारत देश में तमिल भाषा में कई अखबार और मैगजींस भी निकाले जाते है।

हिन्दी में इस भाषा के नाम को तमिल याद तामिल के रूप में उच्चारण किया जाता है।तमिल भाषा के निघण्टु में और तमिल साहित्य में तमिल शब्द का प्रयोग ‘मधुर’ अर्थ में हुआ है।तमिळ भाषा को वट्ट एळत्तु लिपी में लिखा जाता है।कुछ विद्वानों का ऐसा मानना है कि संस्कृत भाषा के द्रविड़ शब्द से ही तमिल शब्द की उत्पत्ति हुई है।अपने इस तथ्य को सिद्ध करने के लिए उन्होंने द्राविड़>द्रविड़> द्रमिड़ >द्रमिल> तमिल आदि रूप में दिखाकर तमिल शब्द की उत्पत्ति को दर्शाया है। लेकिन तमिल भाषा के विद्वान इस पूरे तथ्य और विचार से सहमत है।

संस्कृत भाषा भी पूरे विश्व की प्राचीनतम भाषा के रूप में मानी जाती है किन्तु संस्कृत का उपयोग सामान्य बोलचाल की भाषा में कुछ हिस्सो में ही होता है।व्यावहारिक तौर पर संस्कृत का उपयोग बोलचाल की दृष्टि से बहुत ही कम है। संस्कृत को 6000 वर्ष पुरानी भाषा माना जाता है पर कुछ-कुछ जगहों पर कुछ विद्वानों ने उसको 4000 साल पुरानी भाषा भी माना है।

यही एक तथ्य है तमिल और संस्कृत के बीच में जिसकी वजह से यह स्पष्ट कर पाना मुश्किल है कि कौनसी भाषा सबसे ज्यादा प्राचीन है। लेकिन संस्कृत भाषा को देव भाषा अवश्य कहा जाता है। संस्कृत का सामान्यतः उपयोग केवल धार्मिक ग्रंथों और पूजा अनुष्ठान के कार्यों तक ही सीमित रह गया है। वर्षों से चले आ रहे परिवर्तन के परिणाम स्वरूप कुछ शब्दों को बोलने और लिखने का तरीका अवश्य बदला है, किन्तु तमिल भाषा ज्यों कि त्यों अपना स्थान सामान्य बोलचाल में बनाए हुए है।

तो यह थी विश्व की सबसे पुरानी भाषा (Which is the oldest language in the world) कौन सी है? से जुड़ी हुई रोचक जानकारी आशा है आपको यह जानकारी पर्याप्त लगी होगी।

ऐसे ही रोजाना जानकारी पाने के लिए जुडे रहे hindi.todaysera.com के साथ।

READ  अरुणाचल प्रदेश में कितने जिले हैं? | How many Districts are in Arunachal Pradesh
error: Content is protected !!