आईटीआई की फुल फॉर्म | ITI Full Form in Hindi | आईटीआई क्या है ?

दोस्तों क्या आपको पता है कि आईटीआई की फुल | ITI Full Form in Hindi क्या होती है

आईटीआई की फुल फॉर्म क्या होती है?: औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान( इंडस्ट्रियल ट्रेनिंग इंस्टिट्यूट)

आईटीआई क्या प्रशिक्षण कराते हैं, इसके बारे में सभी छात्रों ने जरूर सुना होगा।आईटीआई से प्रशिक्षण लेकर आज ही नहीं काफी पहले से भी भारतीय युवाओं को रोजगार के नए अवसर मिले हैं। औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान केंद्र सरकार के श्रम एवं रोजगार मंत्रालय के अंतर्गत आता है।भारत के हर राज्य में आईटीआई प्रशिक्षण केंद्र है।आईटीआई प्रशिक्षण केंद्र सरकारी और गैर-सरकारी दोनों प्रकार के मौजूद है। आईटीआई प्रशिक्षण केंद्र भारत के हर राज्य में है। पूरे भारत में कुल 11964 आईटीआई केंद्र है,जिसके अंतर्गत 2284 सरकारी और 9680 प्राइवेट आईटीआई केंद्र आते हैं।जहां से विद्यार्थी प्रशिक्षण प्राप्त कर सकते हैं।

ITI full form in Hindi

आईटीआई एक डिप्लोमा कोर्स है।इसके लिए इन प्रशिक्षण संस्थानों में आपको प्रवेश लेना होता है और प्रवेश शुल्क जमा करके आप वहां 6 महीने से 2 साल का प्रशिक्षण लेते हैं।आईटीआई के लिए प्रवेश दो प्रकार से होते हैं।कुछ राज्यों में अंकों के आधार पर मेरिट निकलती है और कुछ राज्यों में प्रवेश परीक्षा के आधार पर मेरिट मेरिट लिस्ट को जारी किया जाता है।

आईटीआई संस्थानों में प्रवेश प्राप्त करने के लिए आप सरकारी वेबसाइट पर जाएं वहां से ऑनलाइन फॉर्म को भरें। इस प्रक्रिया को पूरा करने के बाद आपको प्रवेश परीक्षा के लिए बुलाया जाएगा या फिर मेरिट लिस्ट के आधार पर आपका चयन होगा और फिर दस्तावेजों के सत्यापन के लिए और फीस को भरने के लिए आपको संस्थानों पर बुलाया जाएगा।

यह भी पढ़ें   WIFI ka Ka Full Form | वाईफाई की फुलफॉर्म क्या है और इसकी जानकारी

आईटीआई में प्रवेश लेने के लिए मामूली शुल्क होता है और सरकारी संस्थानों में तो यह ना के बराबर ही होता है।आईटीआई में प्रवेश मेरिट के बेसिस पर होता है। आईटीआई में कोर्स के आधार पर अलग-अलग योग्यताएं होती हैं। जिनके लिए किसी में 8वीं को किसी के लिए 10वीं को और किसी के लिए 12वीं को आधार माना जाता है।आईटीआई में प्रवेश प्रक्रिया जुलाई या अगस्त महीने में होती है।आईटीआई संस्थानों में प्रशिक्षण देने के लिए उच्च गुणवत्ता के प्रशिक्षण देने वाले शिक्षक होते हैं। प्रशिक्षुओं को जो तकनीकी प्रशिक्षण दिया जाता है जिसमें उन्हें मशीनरी पर कार्य करना भी सिखाया जाता है।

प्रशिक्षण संस्थान का आरम्भ कब और किसने किया था इसके बारे में हम आपको बताते हैं।1950 में प्रशिक्षण महानिदेशक ने हस्तशिल्पी प्रशिक्षण योजना को आरम्भ किया था। औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान में प्रवेश लेने के लिए शैक्षिक योग्यता का आधार 8वीं पास से 12वीं पास तक के लिए है। प्रशिक्षण पूरा होने के बाद प्रशिक्षुओं को अखिल भारतीय ट्रेड टेस्ट नाम की परीक्षा को उत्तीर्ण करना होता है। इस परीक्षा में उत्तीर्ण प्रशिक्षुओं को आईटीआई द्वारा राष्ट्रीय ट्रेड प्रमाण पत्र प्रदान किया जाता है।जिसके माध्यम से उन्हें रोजगार को प्राप्त करना आसान हो जाता है। आईटीआई से प्रशिक्षण लेने के बाद प्रशिक्षु स्वयं भी किसी रोजगार को शुरू कर सकता है।

आईटीआई यानी औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान तकनीकी और गैर-तकनीकी दोनों प्रकार के प्रशिक्षण उपलब्ध कराता है। आईटीआई संस्थानों द्वारा किसी भी ट्रेड से व्यवसायिक कोर्स करके जिनमें विद्यार्थियों को इंडस्ट्रियल लेवल की जॉब के लिए प्रशिक्षण दिया जाता है।तकनीकी और गैर तकनीकी प्रशिक्षण के अंतर्गत कौन-कौन से प्रशिक्षण आते हैं अब इनके बारे में हम विस्तार से जानेंगे।

यह भी पढ़ें   यूपीएससी का फुल फॉर्म (UPSC Full Form) और इस एग्जाम की तैयारी कैसे करे पूरी जानकारी I

ITI full form in English: Industrial Training Institute

पहले हम तकनीकी प्रशिक्षण की बात करेंगे जिसके अंतर्गत मशीनरी को सुधारना या नई मशीनरी को बनाना इससे संबंधित कार्य आते हैं।यहां हम तकनीकी प्रशिक्षण से संबंधित ट्रेड्स के बारे में जानकारी देते दे रहे हैं।जो इस प्रकार हैः
1. इलेक्ट्रिकल
2.मैकेनिकल
3.इलेक्ट्रॉनिक्स
4.सूचना प्रौद्योगिकी
5.ऑटोमोबाइल
6.लिफ्ट मकैनिकस
7. डीजल यंत्र विज्ञान
8.कंप्यूटर हार्डवेयर
9.प्लंबर
10.मोटर व्हीकल मकैनिक, इत्यादि।

गैर तकनीकी औद्योगिक प्रशिक्षण से संबंधित ट्रेड्स के नाम हैः

1. बेकर एंड कन्फेक्शनर
2. बैंबू वर्क्स
3.बेसिक कॉस्मेटोलॉजी
4.कारपेंटर
5.कैटरिंग एंड हॉस्पिटैलिटी
6.कटिंग एंड स्टिचिंग
7.डेयरी प्रोडक्ट्स
8.फुटवियर मेकर
9.फ्रूट एंड वेजिटेबल प्रोसेसर, इत्यादि।

प्रशिक्षु को जिस तकनीकी कार्य में रुचि होती है वह उसी को अपने ट्रेड चुन लेते हैं किंतु ध्यान रहे कि हर ट्रेड हर प्रशिक्षण संस्थान में उपलब्ध नहीं होती है इसकी जानकारी आप पहले से ही प्राप्त अवश्य करके रखें।

आईटीआई से प्रशिक्षण लेकर कोई भी प्रशिक्षु सरकारी गैर सरकारी नौकरी प्राप्त कर सकता है साथ ही वह स्वयं का रोजगार भी खोल सकता है। आईटीआई प्रशिक्षण संस्थान में प्रवेश लेने के लिए उम्मीदवार की आयु 14 से 40 वर्ष के बीच होनी चाहिए और न्यूनतम अंक 35% होने चाहिए।

आईटीआई यानी औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान से उत्तीर्ण होने के बाद आईटीआई सर्टिफिकेट के द्वारा आप को सरकारी नौकरियों में बहुत ही बेहतर अवसर प्राप्त होते है। सरकार आईटीआई के आधार पर बहुत सी भर्तियां निकालती रहती है जो कई सारे विभागों से संबंधित होती हैं। प्राइवेट नौकरियों में भी आईटीआई से सम्बन्धित बहुत सी नौकरियां निकलती रहती है। और आईटीआई कोर्स करने के बाद आप इतने सक्षम हो जाते हैं कि खुद का रोजगार भी आप आसानी से प्रारंभ कर सकते हैं।आईटीआई से संबंधित छात्रों को पूर्व में भी और वर्तमान में भी रोजगार के बहुत सारे अवसर हमेशा से प्राप्त होते आए हैं।

यह भी पढ़ें   RIP Full Form | रिप का फुल फॉर्म क्या है?

ऐसे ही रोजाना जानकारी पाने के लिए जुडे रहे hindi.todaysera.com के साथ।

error: Content is protected !!