10 Lines on Rath Saptami in Hindi | रथसप्तमी पर १० पंक्तियाँ हिंदी में

10 Lines on Rath Saptami in Hindi | रथसप्तमी पर १० पंक्तियाँ हिंदी में

Rath Saptami या रथसप्तमी (संस्कृत: रथसप्तमी या माघ सप्तमी) एक हिंदू त्योहार है जो हिंदू माह माघ के उज्ज्वल आधे (शुक्ल पक्ष) के सातवें दिन (सप्तमी) को पड़ता है। यह प्रतीकात्मक रूप से सूर्य भगवान सूर्य द्वारा अपने रथ (रथ) को मोड़ते हुए सात घोड़ों (सात रंगों का प्रतिनिधित्व करते हुए) के रूप में उत्तरी गोलार्ध की ओर, उत्तर-पूर्वी दिशा में दिखाया गया है। यह सूर्य के जन्म का भी प्रतीक है और इसलिए सूर्य जयंती के रूप में मनाया जाता है (सूर्य देव का जन्मदिन)

10 Lines on Rath Saptami in Hindi | रथसप्तमी पर १० पंक्तियाँ हिंदी में

  1. माघ माह की शुक्ल पक्ष में जो सप्तमी आती है उसे रथसप्तमी या माघ सप्तमी के नाम से जाना जाता है।
  2. माघ सप्तमी के दिन सूर्य देव की पूजा करते हैं क्योंकि यह सप्तमी सूर्य देव को समर्पित है।
  3. भगवान सूर्य का जन्मदिन भी रथसप्तमी को माना जाता है।
  4.  ऐसा कहा जाता है कि रथ सप्तमी के दिन से भगवान सूर्य ने पूरी दुनिया को ज्ञान देना शुरू किया था।
  5.  रथ सप्तमी के दिन सूर्योदय के वक्त स्नान करना बहुत लाभदायक माना जाता है।
  6. रथ सप्तमी के दिन दान करने का उतना ही महत्व है जितना सूर्यग्रहण के दिन दान करने का होता है।
  7. इसे आरोग्य सप्तमी के नाम से जानते है। संत लोग माघ सप्तमी को अचला सप्तमी कहते हैं।
  8. माघ सप्तमी के दिन ॐ घृणि सूर्याय नम:’ का जप करते हुए सूर्य देव को स्नान करवाना चाहिए।
  9. इस दिन सूर्य देव को शुद्ध घी का दीपक जलाना चाहिए।
  10. सूर्य देव हम सबको ऊर्जा और शक्ति देते हैं, इस दिन सूर्य देव की उपासना करने से जीवन अच्छा बनता है।
यह भी पढ़ें   10 Lines on Dusshera in Hindi | दशहरा पर 10 पंक्तियां हिंदी में
error: Content is protected !!