How many Countries in the World? | दुनिया में कुल कितने देश हैं ?

How many Countries in the World? | दुनिया में कुल कितने देश हैं ?:

World, जिसे हम विश्व और वर्ल्ड भी कहते है वास्तव में पूरी धरती के लिए प्रयोग किया जाने वाला भूगोलीय शब्द है। आज दुनिया एक ग्लोबल विलेज बनकर रह गया है क्योंकि आज हम आधुनिकता के दौर में है और हमारी तकनीकी क्षमता पहले से कहीं ज़्यादा विकसित है। इस दुनिया में अलग महाद्वीपों में अनेक देश है और उन सभी में अनेक राष्ट्र यानी देश है।

How many Countries in the World दुनिया में कुल कितने देश है

साल 2020 में world में कुल देशो की संख्या 195 है जिसमें से 193 देश यूनाइटेड नेशंस के सदस्य है जिससे सिर्फ इन्हीं देशो को सर्वमान्य देशों की सूची में रखा गया है। इस लिस्ट में ताइवान और वैटिकन सिटी शामिल नहीं है। ताइवान एक विवादित क्षेत्र है और चीन इसे अपना हिस्सा बताता आया है तो वहीं वैटिकन सिटी इतना छोटा देश है कि उसे स्पेशल स्टेट का दर्ज़ा प्राप्त है न कि एक स्वतंत्र देश का।

यह भी पढ़ें   भारत के रक्षा मंत्री कौन है? (Bharat Ke Raksha Mantri Kaun Hai In Hindi)

दुनिया में बना सबसे नया देश है दक्षिण सूडान। 9 जुलाई 2011 को इसे पूर्व देश सूडान से आज़ादी मिली थी और अब यह अलग राष्ट्र बन चुका है।

कई ऐसे देश भी है जिन्हें दूसरे देश मान्यता नहीं देते है। इसमें सबसे बड़ा उदाहरण है स्टेट ऑफ़ इजराइल का जिसे पाकिस्तान जैसे देश नहीं मानते है। फिर भी यूनाइटेड नेशंस का सदस्य होने के चलते वह मान्यता प्राप्त देश है।

कई और संभावित देशों को संयुक्त राष्ट्र से बाहर छोड़ दिया गया है, लेकिन अभी भी इन्हे आधिकारिक तौर पर कम से कम एक संयुक्त राष्ट्र सदस्य द्वारा स्वीकार किया जाता है (इस तरह के औपचारिक समर्थन को “राजनयिक मान्यता” कहा जाता है)। इन विवादास्पद दावा किए गए देशों को आमतौर पर दुनिया के नक्शे पर विवादित क्षेत्रों या विशेष मामलों के रूप में चिह्नित किया जाता है, यदि वे मानचित्र पर हैं।

आंशिक मान्यता वाले छह गैर-संयुक्त राष्ट्र ताइवान, पश्चिमी सहारा, कोसोवो, दक्षिण ओसेशिया, अबकाज़िया और उत्तरी साइप्रस हैं। इन सभी पर अन्य देशों द्वारा दावा किया जाता है, लेकिन वास्तव में उनके द्वारा नियंत्रित नहीं किया जाता है। संयुक्त राष्ट्र के सदस्यों की संख्या जिन्होंने उन्हें मान्यता दी है हर देश के लिए भिन्न है। उदाहरण के तौर पर उत्तरी साइप्रस के लिए 1 देश का समर्थन मिला तो  कोसोवो के लिए सिर्फ 100 से अधिक देशो का समर्थन है।

कुछ सूचियों में आंशिक रूप से मान्यता प्राप्त राज्यों के रूप में कुक आइलैंड्स और नीयू भी शामिल हैं। ये दोनों स्थान कभी-कभी स्वतंत्र देशों की तरह काम करते हैं, लेकिन उन्होंने वास्तव में कभी स्वतंत्रता की घोषणा नहीं की या संयुक्त राष्ट्र में शामिल होने की कोशिश नहीं की। वे आमतौर पर न्यूजीलैंड के विदेशी शासित प्रदेशों में सेल्फ-रूलिंग स्टेट्स (स्व-शासित राज्यों) के तौर पर  माने जाते हैं।

यह भी पढ़ें   हरियाणा की राजधानी क्या है? | Haryana ki rajdhani

संयुक्त राष्ट्र के सदस्यों से किसी भी मान्यता प्राप्त किए बिना भी तीन स्थानों को अक्सर वास्तविक स्वतंत्र देश माना जाता है, वे हैं आर्ट्सख (नागोर्नो-काराबाख), ट्रांसनिस्ट्रिया और सोमालिलैंड। 2014 के बाद से सूची के लिए तीन और दावेदार हो गए हैं, वे संदिग्ध राज्य है क्योंकि वे सक्रिय युद्ध क्षेत्रों में स्थित हैं और केवल सीमित सरकारी ढांचे हैं।

अलग-अलग लोगों द्वारा घोषित छोटे “माइक्रोनेशन” को आमतौर पर सूची में डालने के लिए गंभीरता से नहीं लिया जाता है। इसमें सबसे प्रमुख नाम है सीलैंड। सच तो यह है कि यह बहस का विषय है कि क्या छोटे “राष्ट्र” को वास्तव में एक क्षेत्र, जनसंख्या, या सरकार के रूप में गिना जाता है, जो कि अधिकांश परिभाषाओं द्वारा “राज्य” के किसी भी प्रकार के सभी प्रमुख घटक हैं।

तो अब आप जान चुके होंगे कि साल 2020 में world में कितने देश है और किन-किन देशों को अभी तक मान्यता नहीं मिली और कितने होने के दावेदार और उनकी के पीछे क्या कारण है।

 

ऐसे ही और जानकारी के लिए हमारे Hindi website से जुड़े रहिए।

error: Content is protected !!