नरेंद्र मोदी की जीवनी | नरेन्द्र मोदी का जीवन परिचय | Narendra Modi Biography in Hindi

0

नरेंद्र मोदी की जीवनी| नरेन्द्र मोदी का जीवन परिचय | Narendra Modi Biography in hindi

नरेन्द्र मोदी का जीवन परिचय narendra modi biography in hindi

नरेंद्र मोदी का जीवन परिचय

नरेंद्र मोदी एक वह शक्शियत है जिससे आज पूरी दुनिया जानती है| नरेंद्र मोदी भारत के वर्तमान के प्रधान मंत्री है| आज देश का बच्चा बच्चा बूढ़ा जवान हर कोई नरेंद्र मोदी को जनता है| नरेंद्र मोदी भारत के १४ वे प्रधान मंत्री है|

नरेंद्र मोदी का जनम और परिवार

नाम – नरेन्द्र दामोदरदास मोदी

जन्म – 17 सितम्बर 1950 वडनगर, जि. मेहसाना (गुजरात)

पिता – दामोदरदास मूलचंद मोदी

माता – हीराबेन मोदी

पत्नी – जशोदाबेन के साथ

निवास – गांधीनगर,गुजरात

कॉलेज – गुजरात यूनिवर्सिटी

नरेंद्र मोदी Age – 68 years

राजनीतिक पार्टी – भारतीय जनता पार्टी (B.J.P.)

Twitter – https://twitter.com/narendramodi

Instagram: instagram.com/narendramodi/

उनका जन्म १७ सितम्बर १९५० को वडनगर, बॉम्बे स्टेट, इंडिया में हुआ था| नरेंद्र मोदी एक गुजरती परिवार में पैदा हुए है| उनके पिता का नाम दामोदरदास मूलचंद मोदी है और माता का नाम हीराबेन मोदी नाम है| पुरे परिवार में जन्मे ६ भाइयों में से मोदी तीसरे नंबर के भाई थे| उनके पिता का जन्म १९१५ में और देहावसान १९८९ में हुआ था| उनकी माता का जन्म १९२० में हुआ था| उनका परिवार मोध घांची तेली समाज से हैं, जो की जाती स्वरुप पिछड़ी जाती में जाना जाता है, भारतीय सरकार द्वारा निर्देशित| नरेंद्र मोदी बहुत की गरीब परिवार से थे|

नरेंद्र मोदी की शिक्षा और दीक्षा 

मोदी अपने बचपन के दिनों में अपने पिता की चाय की दूकान में मदत करते थे, वादनगर रेलवे स्टेशन स्थित| बाद में मोदी ने अपनी खुद की चाय की दूकान भी खोली थी अपने भाई के साथ बस अड्डे के पास| मोदी ने अपनी उच्च माध्यमिक शिक्षा वादनगर में १९६७ में की थी| उनके अध्यापक उन्हें एक औसत श्रेणी का छात्र बताते थे, और वार्तालाप या बसस में बहुत तेज़्ज़ और नाट्य कला में रूचि रखने वाले विधार्थी थे| मोदी को भाषण देने में महारात बचपन से ही हाशिल थी| उन्हें ये सब तौफे के रूप में भगवन की भेट कहा जाता है जो की उनके गुरु तथा मित्रों से बचपन में परख लिया था| मोदी को वह किरदार निभाने में जीवन से बड़े किरदार निभाने के लिए हमेशा तैयार रहते थे और उससे ही पसंद करते थे नाट्य के कार्यक्रमों में जो की राजनैतिक विषयों पे आधारित रहते थे|

नरेंद्र मोदी का देश प्रेम

मोदी अपने बचपन के समय से ही बहुत कुछ करने का प्रयास करते थे| वे बहुत मेहनती बालक थे| जब मोदी ८-९ वर्ष के थे तब मोदी को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के बारे में जानकारी हुई और वह इससे जुड़ने लगे और अपने शहर से नज़दीकी शाखाओं में भाग लिया करते थे| वहां पर मोदी की मुलाक़ात लक्ष्मणराव इनामदार, जो की वकील साहेब नाम से मशहूर थे| जिन्होंने मोदी को बाल्य बालस्वयंसेवक बनाया था, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का| और बाद में वह राजनैतिक वक्त बन गए| जब मोदी आरएसएस में अध्यन कर रहे थे तब वे वसंत गजेंद्रगड़कर और नाथालाल जगहदा भारतीय जन संघ के नेताओं से भी मिले जो की भारतीय जनता पार्टी के गुजरात के संस्थापक थे सं १९८० तक| जिनसे उनका भारतीय जनता पार्टी की तरफ रुझान हुआ|

नरेंद्र मोदी का वैवाहिक जीवन

नरेंद्र मोदी का विवाह बाल्य अवस्था में ही हो गया था| उनकी पत्नी का नाम जशोदाबेन है|  उनकी मांगनी १३ साल में ही हो गयी थी| और फिर १७ साल में उनकी शादी हो गयी थी| नरेंद्र मोदी ने शादी अवश्य की परन्तु वह अपनी पत्नी के साथ शायद ही रहे हो| शादी के कुछ वर्षो बाद नरेंद्र मोदी ने घर बार छोड़ दिया और एक तरह से उनका वैवाहिक जीवन लग भग समाप्त ही हो गया| उनका मान्ना है की एक शादी शुदा आदमी भ्रष्टाचार के खिलाफ उस तरह नहीं लड़ सकता जिस तरह एक अविवाहित व्यक्ति लड़ सकता है क्यों की न ही उसकी बीवी और बच्चे होंगे ना ही उसके किसी तरह का घरेलु दवाब और तनाव होगा| वह एक दम चिंता मुक्त रहता है|

READ  मान्यता दत्त का जीवन परिचय | Manyata Dutt Biography in hindi

नरेंद्र मोदी का सपना – जीवन का उतार चड़ाव

मोदी एक बहुत ही ज़ादा देश भक्त है| वह देश भक्ति की मिसाल है| मोदी बचपन में भारतीय सेना में शामिल होना चाहते थे| मोदी ने घर छोड़ने के बाद २ साल तक देश भ्रमण किया और कई धार्मिक स्थलों के दर्शन किये, जब अधिकांश किशोर १७ साल की उम्र में अपने भविष्य के बारे में सोचते हैं, तब नरेंद्र मोदी ने पूरे भारत में यात्रा के लिए घर त्याग कर दिया। इस निर्णय ने उनके जीवन के पाठ्यक्रम को बदल दिया क्योंकि उनकी यात्रा के दौरान वे भारत की कई संस्कृतियों में आए और विभिन्न लोगों से मिले। इस अवधि के दौरान उन्होंने हिमालय की यात्रा की और योगी साधुओं के साथ लगभग दो साल संयासी बनके रहे। इन यात्राओं ने युवा मोदी पर एक स्थायी छाप छोड़ी। जिसका प्रभाव आप आज भी देख सकते है| इसके बाद वह गुजरात वापस आये और १९६९ में अहमदाबाद चले गए| १९७१ में वह पूर्ण रूप से राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सदस्य बन गए|

जब पूरे देश में १९७५ में भारत की पहली महिला प्रधान मंत्री श्रीमती इंदिरा गाँधी ने देश में आपत्कालीन लागू कर दिया| तब मोदी को नज़रबंद होकर रहना पड़ा था क्यों उस समय सरकार के खिलाफ जो भी जायेगा उससे जेल में दाल दिया जाता था|

नरेंद्र मोदी का राजनीति में पहला कदम मुख्यमंत्री

फिर बाद में आरएसएस ने उन्हें १९८५ में बीजेपी को सौंपा दिया, और उन्होंने महासचिव के पद पर रहते हुए २००१ तक पार्टी के भीतर कई अन्य पदों पर रह कर अपने कर्तव्यों का पालन किया। फिर २००१ में जब केज़ुभाई पटेल के असफल स्वास्थ्य और खराब सार्वजनिक छवि के कारण नरेंद्र मोदी को गुजरात का मुख्यमंत्री नियुक्त किया गया था। उसी समय  गुजरात के भुज में भूकंप भी आया था| जिसमे लोगों की सहायता में मोदी ने अहम् योग दान दिया| नरेंद्र मोदी ने उस समय बहु प्रसिद्ध कलाकार मुकेश खन्ना जी को शक्तिमान के स्वरुप में लोगों की मदत करने के लिए प्राथना की थी और उन्होंने शक्तिमान के रूप में पीड़ितों की हर तरह से उनकी सहायता की थी| इसके तुरंत बाद मोदी विधान सभा के लिए चुने गए थे। नरेंद्र मोदी को और उनके प्रशासन को २००२ के गुजरात में हुए दंगो के लिए कसूरवार मना जा रहा था | परन्तु जब, सर्वोच्च न्यायालय द्वारा बैठे गयी विशेष जांच दल (एसईटी) को मोदी के खिलाफ व्यक्तिगत रूप से कार्यवाही करने के लिए कोई सबूत नहीं मिला| मोदी को गुजरात में मुख्या तौर से विकास में सक्रिय काम के लिए आज भी सराहा जाता है|

मोदी लहर – प्रधान मंत्री पद पे देश के पहली पसंद

फिर मोदी के जीवन ने रुख तब बदला जब २०१४ के आम चुनाव में मोदी ने भाजपा का नेतृत्व किया और भारतीय जनता पार्टी ने उन्हें प्रधान मंत्री पद का उमीदवार घोषित किया, जिस वजह से मोदी ने पार्टी को लोकसभा में विजयी बनाते हुए बहुमत दिलाया| पहली बार किसी पार्टी ने १९८४ के बाद ऐसा परिणाम हासिल किया था| मोदी ने खुद वाराणसी से चुनाव लड़ा था और उससे बहुत बहुत बड़ी वोट संख्या से केजरीवाल को हराया था और भारत के १४वे प्रधान मंत्री बने और भारतीय जनता पार्टी को विजय बनाया|

मोदी की नीतियां

इसके तुरंत बाद पद संभालते हुए, मोदी के प्रशासन ने भारतीय अर्थव्यवस्था में विदेशी प्रत्यक्ष निवेश, बुनियादी ढांचे पर खर्च बढ़ाने और स्वास्थ्य और सामाजिक कल्याण कार्यक्रमों पर खर्च कम करने की अच्छी कोशिश की है। मोदी ने साथ ही में नौकरशाही में दक्षता में सुधार करने का प्रयास किया है, और योजना आयोग को समाप्त करके इसे निति आयोग के साथ बदलकर केंद्रीयकृत शक्ति का निर्माण किया है, जो की बहुत सराहनीये कार्य है|

READ  बीरबल का जीवन परिचय - Biography of Birbal in Hindi Jivani

नरेंद्र मोदी की जनहित के लिए बड़ी योजनाए

स्वच्छ भारत अभियान

जब पहली बार १५ अगस्त को मोदी ने लाल किले से देश को सम्बोधित किया तोह उसका असर ही अलग था| उन्होंने देश में शौचालय निर्माण करने के कड़े कदम उठाये, आमिर खान द्वारा सत्यमेव जयते में देश को स्वच्छ बनाने के सुझाव को आगे बढ़ाते हुए स्वच्छ भारत अभियान का आरम्भ किया|

मोदी ने घर घर में बिजली पहुंचाई, घर घर में रौशनी दी है|

प्रधानमंत्री उज्ज्वल योजना

मोदी ने देश की माताओं को निशुल्क चूल्हा और गैस कनेक्शन बांटे| देश में छोटे शहर से लेकर हर गावं में लड़की से भोजन पकने वाली सभी महिलाओं के लिए एक सौगात लायी| जिससे पाकर महिलाओं ने बहुत ख़ुशी दिखाई, महिला लकड़ी जला जला कर उसके धुओं से कई बड़ी बिमारी से जूझती थी, जिससे इस योजना ने महिलाओं को बड़ी राहत दिलाई|

वन रैंक ओने पैंशन

उन्होंने वन रैंक ओने पैंशन योजना लायी सैनिकों के लिए| इस योजना की कई वर्षो से मांग थी पर पिछली सरकार सैनिकों के हित के लिए कुछ नहीं करती थी| ये मोदी ही है जो देश के सैनिकों के हित के लिए हर संभव प्रयास करते है|

नोट बंदी – काले धन पे एक बड़ा प्रहार

नरेंद्र मोदी ने नोट बंदी करके काले धन पे लगाम लगायी, जिसमे ५०० और १००० के नोट बंद करके नए ५०० और २००० के नोट लागु कर दिए| जिसमे लोगों को थोड़ा कष्ट हुआ पर जनता ने इसका समर्थन किया क्यों की देश में काला धन बहुत मात्रा में छुपा छुपा के रखा गया था और इस नोट बंदी के कारण सभी चोरो के पैसे या तोह पानी में मिल गए या तोह थोड़ा पैसे का दंड देके वह पैसे अपने पास रखे, पिछली की सरकारों ने देश का बहुत सा पैसा घोटालों का छुपा कर रखे थे वह वापस नहीं आया क्यों की रबीई ने बताया की देश का ५०० और १००० के १५.४१ लाख करोड़ में से १५.३१ लाख करोड़ वापस आ गया पर १०,७२०  करोड़ काला धन लोगों ने जमा नहीं किया|

डिजिटल इंडिया

नरेंद्र मोदी ने डिजिटल इंडिया की नीव राखी और भारत देश को डिजिटल बनाने के बहुत बड़ा कदम उठाया और आज भारत डिजिटल की तरफ बहुत तेजी से बढ़ रहा है| पहले इंटरनेट का इस्तेमाल बहुत निचले स्तर पे था अब हर व्यक्ति आज इंटरनेट चला रहा है क्यों की पहले १ जीबी नेट २०० से २५० होता था अब पूरी दुनिया में सबसे सस्ता इंटरनेट भारत प्रदान करता है| इंटरनेट का इस्तेमाल आज भारत में सबसे अधिक होने लगा है, जिससे हर काम आज कल इंटरनेट से किया जा रहा है| किसानो को प्रधान मंत्री की योजनाओ का सीधा फायदा उनके बैंक खातों में जमा हो रहा है, जिससे बिचौलियों का पत्ता काट दिया गया है| और देश का पैसा खाने वाले लोग अब नहीं खा पा रहे|

नरेंद्र मोदी जन-धन योजना

नरेंद्र मोदी ने प्रधानमंत्री जन धन योजना शुरू की जो की की १५ अगस्त २०१४ को अपने पहले स्वतंत्रता दिवस भाषण में शुभारम्भ की थी| इस योजना से देश में करोड़ो लोगों ने अपने अपने बैंक खाते खुलवाये| यह एक वित्तीय समावेशन कार्यक्रम है, जिसमे कार्यक्रम के शुरू होने के पहले दिन ही डेढ़ करोड़ बैंक खाते खोले गए थे और हर खाता धारक को १००००० रुपये का दुर्घटना बीमा कवर दिया गया| इस योजना के तहत अब तक 3.02 करोड़ खाते खोले गए और उनमें करीब 1,५०० करोड़ रुपये जमा किए गए और साथ ही में रूपए डेबिट कार्ड की नीव भी राखी जो की आज बड़े पैमाने में इस्तेमाल किया जा रहा है|

मेक इन इंडिया

नरेंद्र मोदी ने अपने देश के लिए मेक इन इंडिया की नीव रखी जिसका लक्ष्य है की हर चीज़ भारत में निर्यात की जाए और हमे बहार से चीज़े न मांगना पड़े और भारत को इसका लाभ हो और भारत का जीडीपी बढ़ते जाये| हम लगातार बहार से यानि चीन से हर सामान निर्यात करते है जिससे हमारा रूपया दिन ब दिन गिर रहा था उससे रोकने के लिए मेक इन इंडिया अहम् भागीदारी निभा रहा है और इससे आगे और भी सक्रिय रूप से आगे बढ़ाया जायेगा|

READ  महेंद्र सिंह धोनी का जीवन परिचय

मोदी की अन्य लाभ कारी योजनाएँ  

इसके बाद मोदी ने अटल पेंशन योजना चालू की| बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ को बहुत महत्व देते हुए इस योजना को देश के सामने रखा और नारी शक्तिकरण को बढ़ावा दिया| कुछ अन्य प्रमुख योजनाए जो की बहुत चर्चित है वह है सांसद आदर्श ग्राम योजना, प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना, मुद्रा बैंक योजना, स्टैंड अप इंडिया स्कीम, मुद्रा बैंक योजना, प्रधानमंत्री जीवन ज्‍योति बीमा योजना, प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना, किसान विकास पत्र, कृषि‍ बीमा योजना, प्रधानमंत्री ग्राम सिंचाई योजना, स्‍वायल हेल्‍थ कार्ड स्‍कीम, नेशनल हेरिटेज सिटी डेवलपमेंट एंड ऑग्‍मेंटेशन योजना, इंद्रधनुष, दीन दयाल उपाध्‍याय ग्रामीण कौशल्‍या योजना, महात्‍मा गांधी प्रवासी सुरक्षा योजना इत्यादि ये सभी योजनाए प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने जनहित के कल्याण के लिया शुरू किये|

मोदी का दिमाग  

मोदी ने कूट नीति से आतंकवाद ख़तम करने का संकल्प लिया है और पडोसी मुल्क पाकिस्तान को कड़े शब्दों में चुनौती देते हुए घर में घुसके मारने की बात कही और इससे अमल करते हुए उरी के आतंकवादी हमला का बदला लेते हुए पाकिस्तान में घुसके सर्जिकल स्ट्राइक की और आतंकवादियों के कई ठिकाने, आतंकवादी लांच पैड उनके बंकर और सभी एकत्र आतंकवादियों की चुन चुन के मारा हमारी भारतीय सेना ने| मोदी की कूट नीति के कारन आज हर बड़ा और शक्ति शाली देश हमारे साथ आतंकवाद के खिलाफ साथ खड़ा है| इजराइल, फ्रांस, रूस, अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया सभी देशों ने भारत के साथ है और पाकिस्तान आज भीक मांग रहा है अपनी गरीबी से जूझते हुए पर की देश उसके साथ नहीं है| यहाँ तक चीन ने भी उसका साथ अभी के लिए छोड़ दिए है|

आतंकवादियों की अब खैर नहीं

हालही में कश्मीर में हुए पुलवामा हमले में शहीद हुए ४५ जवानो की शहादत का बदला लेते हुए फिर से पाकिस्तान में घुसकर आतंकवादियों के अड्डे को तभा करते हुए ३०० आतंकियों को मार गिराया वायु सेना द्वारा| ये अब तक का सबसे बड़ा सर्जिकल स्ट्राइक भारत की और से आतंकवाद के खिलाफ किया गया है| नरेंद्र मोदी ने सेना को खुली छूट देके रखी है वह जो चाहे कर सकती है| पिछली सरकार सैनिकों के हाथ बांध के रखती थी पर मोदी की सरकार सेना के साथ कदम से कदम मिला के खड़ी है| मोदी ने हाल ही में कहा है देश सुरक्षित हाथों में है और लोग ने उनका पूरा अभिनन्दन किया है|

अवार्ड्स

  • पीएम नरेंद्र मोदी को ‘मोदीनॉमिक्स’ के लिए प्रतिष्ठित सियोल शांति पुरस्कार २०१८ से सम्मानित किया गया है|
  • पीएम मोदी को संयुक्त राष्ट्र चैंपियंस ऑफ द अर्थ अवार्ड २०१८ से सम्मानित किया गया|
  • पीएम मोदी को ग्रैंड कॉलर ऑफ द स्टेट ऑफ फिलिस्तीन से सम्मानित किया गया|
  • प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी को अफगानिस्तान के अमीर अब्दुल्ला खान पुरस्कार से सम्मानित किया गया|
  • पीएम मोदी को सऊदी अरब के किंग अब्दुल्लाज़ीज़ सैश अवार्ड से सम्मानित किया गया|
  • वर्ष २०१६ के टाइम पर्सन के लिए नरेंद्र मोदी ने पाठक का पोल जीता|
  • फोर्ब्स वर्ल्ड की सबसे शक्तिशाली लोगों की सूची 2018 में पीएम मोदी 9 वें स्थान पर रहे|
  • पीएम मोदी ने टाइम के ​​२०१७ के १०० सबसे प्रभावशाली लोगों में चित्रित किया गया|
  • पीएम मोदी दुनिया के तीसरे सबसे बड़े नेता हैं, जिसपे दुनिया उनके लक्ष्य कदम पे चलती है|
  • मोदी को हालही में भी कई पुरस्कार से सम्मानित किया गया है|

मोदी है तोह मुमकिन है – मोदी दुबारा – मोदी अगेन – नमो नमो – घर-घर मोदी

अगले आने वाले एक दो महीनो में चुनाव होने वाले हम उम्मीद करते है की एक बार फिर मोदी सरकार बने और मोदी इस बार ४०० से अधिक सीटों से जीते और भारत को परमाणु शक्ति बनाये और देश का ऐसे ही कल्याण करे और देश से गरीबी को जड़ से मिटा दे|

 

जुड़े रहे hindi.todaysera.com के साथ !

नरेंद्र मोदी की जीवनी | नरेन्द्र मोदी का जीवन परिचय | Narendra Modi Biography in Hindi
5 (100%) 1 vote[s]