जसप्रीत बुमराह का जीवन परिचय | Jasprit Bumrah Ka Jeewan Parichay In Hindi

दोस्तो आज हम जसप्रीत बुमराह के जीवन परिचय (Jasprit Bumrah Ka Jeewan Parichay) के बारे में पढ़ेंगे। यदि आपको नही पता है तो यहाँ आपको पूरी जानकारी मिलेगी।

जसप्रीत बुमराह- बल्लेबाजों के लिए खतरे की घंटी

अगर आप किसी भी क्रिकेट प्रेमी से पूछेंगे कि इस समय विश्व का सबसे खतरनाक गेंदबाज कौन है या आप किसी बल्लेबाज से जानना चाहेंगे कि उन्हें किस गेंदबाज के सामने बल्लेबाजी करने से डर ल
गता है तो आपको सिर्फ एक ही जवाब मिलेगा- जसप्रीत बुमराह। यह वही गेंदबाज है जिसने आजकल बल्लेबाजों की नाक में दम कर रखा है।

जसप्रीत बुमराह का जीवन परिचय

जसप्रीत बुमराह इस समय विश्व के शीर्ष गेंदबाजों में शुमार करते है और वो भारतीय तेज गेंदबाजी के आक्रमण की रीढ़ की हड्डी है। बुमराह ने जबसे अंतराष्ट्रीय क्रिकेट में पर्दापण किया है जबसे ही उन्होंने विश्व क्रिकेट में धूम मचा रखी है।

    जसप्रीत बुमराह

नाम जसप्रीत जसवीर सिंह बुमराह
निकनेमजस्सी,बूम-बूम बुमराह
पिता जी का नामस्वर्गीय जसवीर सिंह बुमराह
माता जी का नामश्रीमती दलजीत कौर
जन्म तिथि6 दिसंबर,1993
जन्म स्थानअहमदाबाद,गुजरात
उम्र25 वर्ष
हाईटलगभग 5.9 फ़ीट
धर्मसिख
वजनलगभग 67 किलो
पत्नी का नामअविवाहित
सालाना कमाई1 करोड, 25 लाख

जसप्रीत बुमराह का निजी जीवन

 

 

View this post on Instagram

 

A post shared by jasprit bumrah (@jaspritb1) on Jan 7, 2020 at 9:37am PST

जसप्रीत बुमराह इनका पूरा नाम जसप्रीत जसबीर सिंह बुमराह है। जसप्रीत बुमराह का जन्म 6 दिसंबर 1993 को गुजरात के एक मध्य-वर्गीय रामगढ़िया परिवार में हुआ था। बुमराह की माता का नाम जसबीर सिंह है और माता का नाम दलजीत कौर है। बुमराह के पिताजी जसबीर सिंह जो एक इंडस्ट्रलिस्ट थे और उनकी माताजी अहमदाबाद के एक स्कूल में प्रिंसिपल थी। जब बुमराह केवल 7 साल के थे तब उनके पिताजी का देहांत हो गया था। बुमराह की एक बहन भी है जिनका नाम जुहीका बुमराह है।

जसप्रीत बुमराह के क्रिकेट जीवन की शुरुआत

जसप्रीत बुमराह ने क्रिकेट खेलने की शुरुआत तो स्कूल से ही कर दी थी। पर स्टेट लेवल पर खेलने की शुरुआत 2013 में की थी। बुमराह दाएं हाथ के तेज गेंदबाज है। उन्होंने 2013-2014 के रणजी सीजन में विदर्भ के खिलाफ पर्दापण किया। उन्होंने अपने पहले ही मैच में गुजरात के लिए 7 विकेट झटके और अपने जीवन के पहले ही रणजी सत्र में उन्होंने सबसे ज्यादा विकेट झटके।

बुमराह अपने अजीब लगने जैसे एक्शन के साथ गेंदबाजी करने की वजह से सुर्खियों में भी बने रहे थे। रणजी में प्रभावशाली प्रदर्शन करने के बाद उन्होंने 2012-13 के सईद मुश्ताक अली ट्रॉफी में T-20 खेलने की शुरुआत की। अपना पहला मैच बुमराह ने महाराष्ट्र के खिलाफ खेला। यहा पर आपको यह भी बताना चाहेंगे कि इस ट्रॉफी में अपनी गेंदबाजी के दम पर उन्होंने गुजरात को चैंपियन बनाने में मदद करी जहा उन्होंने फाइनल मैच में पंजाब के खिलाफ 3 विकेट लेकर पंजाब की कमर तोड़ दी थी।

जसप्रीत बुमराह के आईपीएल क्रिकेट की शुरुआत

 रणजी और घरेलू क्रिकेट में धूम मचाने के बाद बुमराह की बारी थी अब आईपीएल (IPL) की। उन्होंने मात्र 19 वर्ष की उम्र में ही आईपीएल 2013 में अपनी धाक जमानी शुरू कर दी थी और मुम्बई इंडियंस स उन्होंने खेलना शुरू किया। अपने पहले ही मैच में उन्होंने RCB के खिलाफ 32 रन देकर तीन विकेट अपने नाम किये। हालांकि उन्हें इस टूर्नामेंट में ज्यादा मैच खेलने का मौका नही मिला।

परंतु उनके लगातार घरेलू स्तर के अच्छे प्रदर्शन से उन्हें मुम्बई इंडियंस ने 2014 सत्र के लिए भी खरीद लिया। 2018 के सत्र में बुमराह ने 78 विकेट अपने नाम किये थे।

जसप्रीत बुमराह की अंतराष्ट्रीय स्तर पर धाक जमाई

अब तक बुमराह घरेलू क्रिकेट और आईपीएल में धूम मचाने के बाद अब सबको यही इंतज़ार था कि बुमराह कब इंडियन टीम की ड्रेस में दिखाई देंगे। और सबकी यह इच्छा भी जल्द पूरी हो गयी। उनका टीम इंडिया में चयन भी बिना किसी योजना के हुआ था। दरअसल 2015-16 के ऑस्ट्रेलिया दौरे के लिए तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार का चयन हुआ था। लेकिन फिर भुवनेश्वर कुमार चोटिल हो गए और उनकी जगह जसप्रीत बुमराह को ऑस्ट्रेलिया बुलाया गया।

बुमराह ने अपना पहला अंतराष्ट्रीय T-20 27 जनवरी 2016 को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेला। इसी दौरे पर उन्होंने 23 जनवरी 2016 को एकदिवसीय क्रिकेट में डेब्यू किया। अब तो बुमराह एकदिवसीय और T-20 में भारतीय टीम के नियमित सदस्य बन गए। बुमराह ने योर्कर से अच्छे-अच्छे बल्लेबाजों की नींद उड़ा दी। लगातार योर्कर डालने के कारण उन्हें योर्कर किंग भी कहा जाने लगा।

2016 में वेस्टइंडीज में हुई T20i सीरीज में उन्होंने विकेट झटक करके एक कैलेंडर साल में विश्व मे सबसे ज्यादा T20I विकेट लेकर डर्क नेनस का रिकॉर्ड तोड़ दिया। 2017 में इंग्लैंड की टीम भारत के दौरे पर आई हुई थी। श्रृंखला के दूसरे मैच में बुमराह ने एक बार फिर सिद्ध कर दिया कि वो क्यों विश्व के शीर्ष गेंदबाज है। इंग्लैंड को उस मैच में जितने के लिए आखिरी ओवर में 8 रन चाहिए लेकिन बुमराह ने केवल 2 रन दिए और भारत को मैच जितवाया। बुमराह से एक कड़वी याद भी जुड़ी है 2017 में इंग्लैंड में हुई चैंपियंस ट्रॉफी में खिताबी जंग भारत और पाकिस्तान के बीच हुई थी। बुमराह ने फाइनल में फखर ज़मान का विकेट झटका पर वो नो-बाल थी। इसके बाद फखर ज़मान ने शतक जड़कर पाकिस्तान को खिताब दिला दिया।

जसप्रीत बुमराह  का टेस्ट मैच में पर्दापण

2017-18 के भारत के दक्षिण अफ्रीकी दौरे के लिए टेस्ट टीम में उनका चयन हुआ था। उन्होंने 5 जनवरी 2018 को कैप्टाउन के न्यूलैंड्स स्टेडियम में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट करियर की शुरुआत की। टेस्ट मैच में उनका पहला विकेट महान दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाज AB डिविलियर्स का था। इस दौरे पर खेले गए तीसरे मैच में उन्होंने एक पारी में पहली बार 5 विकेट झटके। इसके बाद बुमराह लगातार हर सीरीज में धमाकेदार प्रदर्शन करने लगे। अब बुमराह क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट में भारत के तेज गेंदबाजी के लीडर बन गए थे। 2018 में उन्होंने एक वर्ष में 48 विकेट झटके और वो पर्दापण करने के बाद पहले ही साल में सबसे ज्यादा विकेट झटकने वाले गेंदबाज बने।

2019 के वेस्टइंडीज दौरे पर खेले गए दूसरे टेस्ट मैच में उन्होंने हैट्रिक लेकर भारत के लिए टेस्ट मैच में हैट्रिक लेने वाले तीसरे गेंदबाज बन गए।

वैसे भारतीय टीम में बहुत से जैसे शिखर धवन विराट कोहली, म स धोनी , शिखर धवन और रोहित शर्मा

बुमराह के अनुसार उनके आल-टाइम फ़ेवरिट गेंदबाज मिचेल जॉनसन, वसीम अकरम और ब्रेट ली। मुम्बई इंडियन से आईपीएल खेलते हुए उन्होंने लसिथ मलिंगा से गेंदबाजी के काफी गुर सीखे।

बुमराह को 2019-20 के लिए पाली-उमरीगर अवार्ड दिया गया था। 2017 और 2018 के लिए उन्हें ICC ODI टीम ऑफ दी ईयर और 2018 में ICC Test टीम ऑफ दी ईयर में जगह मिली।

  • बुमराह ने T20 में डेब्यू 26 जनवरी 2016 को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ किया।
  • टेस्ट में पर्दापण 5 जनवरी 2018 को साउथ अफ्रीका के विरुद्ध किया।
  • एकदिवसीय मैचों में शुरुआत 23 जनवरी 2016 को ऑस्ट्रेलिया के सामने।

जसप्रीत बुमराह के आंकड़े

  • बुमराह ने अभी तक 12 टेस्ट मैच खेले है जिनमे उन्होंने 20.63 की औसत से 62 विकेट झटके है। टेस्ट मैच की एक पारी में 5 विकेट लेने का कारनामा वो 4 बार कर चुके है और उनका सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी प्रदर्शन 27 रन देकर 6 विकेट है।
  • जसप्रीत बुमराह ने 58 एकदिवसीय मैचों में 25.88 की औसत से 104 विकेट झटके है और उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 27 रन देकर 5 विकेट है।
  • अब तक बुमराह 45 T20 खेल चुके है जिनमे उन्होंने 20.11 की औसत से 59 विकेट झटके है। और उनका बढ़िया प्रदर्शन 11 रन देकर 3 विकेट है।

आज की पोस्ट के माध्यम से आपने जाना जसप्रीत बुमराह का  (Jasprit Bumrah Ka Jeewan Parichay)जीवन परिचय। आशा करते है की आपने इस लेख के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त की होगी।

अगर आपको हमारी यह पोस्ट पसंद आई है तो इस पोस्ट को फेसबुक, Instagram और Pintrest पे share करें|

ऐसे ही रोजाना जानकारी पाने के लिए जुड़े रहे hindi.todaysera.com/ के साथ।

 

error: Content is protected !!