रोहित शर्मा का जीवन परिचय | Rohit sharma biography in Hindi

0

रोहित शर्मा का जीवन परिचय | Rohit sharma biography in Hindi
रोहित शर्मा का जीवन परिचय

रोहित शर्मा की जीवनी

View this post on Instagram

👫

A post shared by Rohit Sharma (@rohitsharma45) on

रोहित शर्मा भारतीय टीम के सलामी बल्लेबाज़ है | वह इस समय भारतीय क्रिकेट टीम के उप कप्तान भी है | रोहित शर्मा सीधे हाथ से बाले बाजी करते है | और कभी कभी स्पिन बोलिंग करते है | वह पूरी दुनिया एक लौते ऐसे बल्लेबाज़ है जिन्होंने सबसे ज़ादा बार दोहरे शतक लगाए है |

https://www.instagram.com/rohitsharma45

 नाम रोहित शर्मा
उप नाम रो-हिट
जन्म स्थान बंसोड़, नागपुर, महाराष्ट्रभारत
जन्म तारीख 30 अप्रैल 1987
 शैक्षिक योग्यता कॉलेज ऑफ़ आर्ट्स, साइंस  एंड कॉमर्स
पिता का नाम(Father) गुरुनाथ शर्मा
माता का नाम(Mother) पूर्णिमा शर्मा
पेशा क्रिकेटर
भारत क्रिकेटटीम में इनकीभूमिका स्पिनर और बल्लेबाज
बल्लेबाजी शैली दाहिने हाथ के बल्लेबाज
पत्नी का नाम(Wife/ Spouse) रितिका सजदेह
पहला टेस्ट मैच(Test debut) 6 november, 2013 west indice
अंतिम टेस्ट मैच(Last Test) 26 दिसंबर 2018 बनाम ऑस्ट्रेलिया टीम
पहला ओडीआई(ODI debut) 23 june 2007 बनाम ireland टीम
बॉलिंग शैली(Bowling Style) दाएँ हाथ से ऑफ़ ब्रेक
पहला टी 20 (T 20 debut) १९ सितम्बर २००७
 आखिरी टी 20 (Last T20 ) 24 फरवरी 2018 बनाम australia टीम
आईपीएल कीटीम (IPL) मुंबई इंडियंस
लंबाई (Height) 5 फीट 8 इंच
बालों का रंग(Hair Colour) काला
वजन (Weight) 72 किलो
इंस्टाग्रामअकाउंट (Instagram) https://www.instagram.com/rohitsharma45 
फेसबुक अकाउंट (Facebook) https://www.facebook.com/rohitsharma/ 
ट्विटर अकाउंट (Twitter) https://twitter.com/ImRo45
कुल संपत्ति(Net Worth) करीब 29 मिलियन डॉलर

रोहित शर्मा  जन्म – एवं परिवार

रोहित शर्मा का जन्म 30 अप्रैल 1987 को महाराष्ट्र के नागपुर शहर के बंसोड़ में हुआ था |

रोहित शर्मा की मातेश्वरी का नाम पूर्णिमा शर्मा है विशाखापट्टनम से हैं | रोहित शर्मा के पिता का नाम गुरुनाथ शर्मा है | उनके पिता गुरुनाथ शर्मा एक ट्रांसपोर्ट फर्म के स्टोरहाउस के केयरटेकर के रूप में काम करते थे। रोहित को उनके पिता की कम आमदनी के कारण उनके दादा-दादी और चाचाओं ने बोरिवली में पाला था | उनके माता पता एक कमरे के रूम में रहते थे| रोहित के एक भाई है जिनका नाम विशाल शर्मा है | रोहित को हिटमैन और रो-हिट शर्मा के नाम से भी बुलाया जाता है|

रोहित ने १९९९ में क्रिकेट शिविर में शामिल हुए थे, अपने चाचा जी की सहायता से रोहित को पूर्ण रूप से आर्थिक मदत हुयी थी | रोहित शर्मा के कोच का नाम दिनेश लाद है|

रोहित शर्मा ने स्वामी विवेकानंद इंटरनेशनल स्कूल एंड जूनियर कॉलेज और अवर  लेडी ऑफ़ वेलंकन्नी हाई स्कूल से स्कूली शिक्षा ग्रहण की और अपनी कॉलेज की पढाई रिज़वी  कॉलेज ऑफ़ आर्ट्स, साइंस  एंड कॉमर्स से पूर्ण की|

रोहित शुरूआती समय में ऑफ स्पिनर थे और ठीक ठाक बल्लेबाज़ी कर लिया करते थे| उनके कोच ने रोहित की बल्लेबाज़ी को परखा और उन्हें बल्लेबाज़ी में ध्यान देने को कहा और घरेलू मैचों में उन्हें आठवे स्थान से पहले स्थान पैर बल्लेबाज़ी करने को कहा और रोहित ने स्कूल क्रिकेट टूर्नामेंट में पहली बार पारी की शुरुआत करते हुए शतक लगाया था|

घरेलु क्रिकेट –

रोहित ने राष्ट्रीय स्तर पे होने वाले घरेलु क्रिकेट की शुरआत पश्चिम क्षेत्र टीम की तरफ से हुयी थी, जिसका पहला मैच मार्च २००५ में दियोदर ट्रॉफी में मध्य क्षेत्र के खिलाफ ग्वालियर में खेला गया था |

इसी स्तर के मैचों में रोहित ने १४२ रन बनाए थे १२३ बॉल पर उत्तरी क्षेत्र के खिलाफ उदयपुर में जिसकी वजह से रोहित लोगों की नजर में और सुर्खियों में आए थे | इस घरेलू मैचों की वजह से रोहित को आबू धाबी में ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध भारत ए टीम के लिए शामिल किया गया था, लेकिन उन्हें अंतिम ग्यारह में जगह नहीं मिल पायी थी |

रोहित ने अपने प्रथम श्रेणी क्रिकेट की शुरुआत भारतीय ए टीम से न्यूजीलैंड ए के खिलाफ जुलाई २००५ में हुआ था | रोहित ने २००६-२००७ सत्र में अपने प्रथम श्रेणी के मैच से  मुंबई के लिए रणजी ट्रॉफी की शुरुआत की।

रोहित शर्मा अंतर्राष्ट्रीय करियर

रोहित की एक दिवसीय करियर की शुरुआत आयरलैंड के विरुद्ध हुयी थी | परंतु इसमें रोहित बल्लेबाज़ी नहीं कर पाए थे | रोहित लोगों की नजर में तब आए जब रोहित ने २० सितंबर २००७ को भारत को विजय बनाते हुए नाबाद ५० रन बनाए थे ४० बोलों पर साउथ अफ्रीका के विरुद्ध आईसीसी टी20 विश्व कप में |

रोहित को इस मैच के जीतने के बाद रोहित को मन ऑफ़ दा मैच मिला था जो की उनका पहला पुरस्कार था | इस वजह से भारत टी२० विश्व कप में सेमी फाइनल तक पहुंच पाया था और अंतिम मैच में १६ गेंद पे ताबड़ तोड़ ३० रन बनाये थे और आखिरी मैच में पाकिस्तान को हराकर भारत विश्व विजेता बना था |

रोहित ने अपने पहली ही एक दिवसीय मैच में १८ नवंबर २००७ को जयपुर में पाकिस्तान के खिलाफ अपना पहला वनडे अर्धशतक बनाया था | उसके बाद रोहित को कॉमन वेल्थ बैंक सीरीज जो की ऑस्ट्रेलिआ में हुआ था उस्समे १६ खिलाडी की सूचि में रोहित को शामिल किया गया था | लेकिन इस सीरीज से रोहित को कुछ ख़ास सफलता नहीं मिली और उनकी जगह सुरेश रैना को चुना जाता था, विराट कोहली को भी ज़ादा तबज्जो मिलता था रोहित से ज़ादा |

२००९ में जब रोहित ने ट्रिपल सेंचुरी बनाई रांझी ट्रॉफी में जिसकी वजह से उन्हें दुबारा एक दिवसिय ३ देशो की श्रंखला जो बांग्लादेश में हुई थी उसके लिए उन्हें चुना गया था क्यों उस समय सचिन तेंदुलकर को आराम दिया गया था परन्तु रोहित को इसमें एक भी मैच नहीं मिला खेलने को क्योंकी रैना और विराट को ही मौका दिया गया |

ऐसे ही २०१० में रोहित को साउथ अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट टीम में शामिल किया जाने वाला था पर मैच के अभ्यास के दौरान रोहित को चोट लग गई और उनकी जगह रिद्धिमान साहा को ले लिया गया था |

रोहित अपने आप को बहुत ही बदकिस्मत मानते हैं क्योंकि उन्हें २०११ विश्व कप के लिए नहीं चुना गया था क्योंकि विश्व कप से पहले हुए साउथ अफ्रीका के साथ एकदिवसीय मैचों में रोहित कुछ खास प्रदर्शन नहीं कर पाए थे इसी बात का अफसोस उन्हें आज भी है |

धोनी का योगदान –

धोनी जब से भारतीय टीम के कप्तान बने थे उन्होंने हमेशा रोहित शर्मा को अपनी टीम में लिया था विश्व कप से पहले भी साउथ अफ्रीका के साथ हुए मैच में भी उन्हें पांचो मैचों में रोहित को खिलाया था |

फिर उसके बाद भारत ने २०११ में धोनी की मेजबानी में भारतीय टीम ने 28 साल बाद विश्व कप जीता था | वह दिन ऐतिहासिक दिन था | उसके बाद रोहित ज़ादा तर आईपीएल में ही दीखते थे |

फिर विश्वकप के बाद जब वरिष्ठ खिलाडियों ने टीम से सन्यास लिया तोह, रोहित को एक मध्याकर्मी बल्लेबाज़ के रूप में टीम में चुना गया | परन्तु रोहित मध्य में बल्लेबाज़ी में कुछ ख़ास नहीं कर पाते थे |

फिर भारतीय टीम के कप्ताम महेंद्र सिंह धोनी ने रोहित को ऊपर खिलवाया और फिर क्या था रोहित ने पहले ही मैच में शतक जड़ दिया सलामी बल्लेबाजी के रूप में | वफ समय चैंपियन ट्रॉफी चल रही थी जब रोहित को धोनी ने ऊपर बल्लेबाज़ी करवाई थी |

उस समय रोहित के साथ शिखर धवन ने रोहित के साथ जोड़ी के रूप में शुरुआत की थी, और अब रोहित और शिखर धवन दुनिया के सबसे बेहतरीन सलामी बल्लेबाज़ बन चुके है और दोनों की साजेधारी ने कई कीर्तिमान गाढे है |  इसके बाद रोहित ने अपना बेहतर प्रदर्शन कायम रखा और २०१३ भारत में हुयी भारत और ऑस्ट्रेलिया श्रंखला में रोहित ने एक तरफ़ा प्रदर्शन किया, इसी समय रोहित ने अपने क्रिकेट के इतिहास में पहली बार दोहरा शतक लगाया २ नवंबर २०१३ के दिन |

रोहित ने इस दिन २०९ रन की पारी खेली थी १५८ गेंदों पे जिसमे १६ छक्के और १२ चौके लगाए थे रोहित | यह सीरीज बहुत ही रोमांचक श्रंखला थी | इतिहास में ऐसी श्रंखला पहले कभी नहीं हुई | भारत ने ऑस्ट्रेलिया को ३-२ से हराया था और एक मैच बारिश के कारण २ मैच  रद्द हो गए थे |

टेस्ट मैचों में – प्रथम प्रवेश

रोहित के टेस्ट मैच का शुभारम्भ तब हुआ जब सचिन अपने टेस्ट क्रिकेट का आखरी मैच खेल रहे थे |नवंबर २०१३ में सचिन ने अपने आखरी टेस्ट मैच खेला था | रोहित ने इस मैच में १७७ रन की शानदार पारी खेली थी | इस स्कोर के साथ रोहित आरम्भ मैच में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले दूसरे भारतीय क्रिकेटर बन गए शिखर धवन के बाद | रोहित उन गिने चुने खिलाडियों में शामिल हो गए जिन्होंने अपने आरम्भिक मैच में शतक जड़ा |

इसके बाद रोहित ने अपने अच्छे प्रदर्शन को बरकरार रखते हुए मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में अपने घरेलू मैदान पर १११ रनों की नाबाद पारी खेली और पहले दो टेस्ट में शतक बनाने वाले तीसरे भारतीय क्रिकेटर बन गए इससे पहले सिर्फ दो भारतीय खिलाडियों ने ऐसा कारनामा करके दिखाया था,१९९६ में इंग्लैंड में सौरव गांगुली ने यह कीर्तिमान रचा और १९८४ में मोहम्मद अजहरुद्दीन, जिन्होंने अपने पहले तीन में लगातार शतक बनाए।

विश्व के एक एकलौते खिलाडी –

इसके बाद रोहित एक लौटें ऐसे खिलाडी बन गए जिन्होंने एक दिवसीय मैच में २५० का आकड़ा छू लिया | रोहित ने इतिहास बना दिया पुरे विश्व में | रोहित ने २६४ रन की ताबड़ तोड़ पारी खेली श्रीलंका के विरुद्ध कोलकाता के ईडन गार्डन के मैदान में |

रोहित ने उस समय वीरेंदर सेहवाग के २०१९ रन के कीर्तिमान को पीछे छोड़ते हुए २०१९ रन बना डाले | यह इतिहास है की अभी तक कोई भी बाले बाज़ २४० की लाइन में भी नहीं पहुँच पाया | यह कीर्तिमान अभी तक कोई तोड़ पाया है, और लोगों को उम्मीद है यह कीर्तिमान फिर रोहित ही तोड़ पाएंगे | रोहित ने इस मैच में ३३ चौके और ९ छक्के लगाए थे|

इसके बाद २०१५ में साउथ अफ्रीका के भारतीय दौरे पे रोहित ने टी-२० में १०६ रन बनाये | रोहित पहले ऐसे बाले बाज़ बने जिन्होंने टी-२० में शतक लगाया | इसके बाद रोहित ने १३ दिसंबर २०१७ को फिर रोहित ने श्रीलंका के खिलाफ नाबाद २०८ रन बनाकर अपना तीसरा दोहरा शतक अपने नाम किया |

रोहित शर्मा का वैवाहिक जीवन –

रोहित शर्मा ने १३ दिसंबर २०१५ को रितिका सजदेह से शादी की | रितिका एक खेल आयोजन प्रबंदक है | रोहित और रितिका पहली बार २००८ में रीबॉक ब्रांड के शूट के दौरान मिले थे | युवराज सिंह और रितिका आपस में भाई बहिन जैसे थे| रितिका युवराज सिंह को रक्षाबंधन में हमेशा राखी बंधा करती है |

फिर रोहित ने २०१५ में बोरीवली स्पोर्ट्स क्लब में रितिका को शादी के प्रस्ताव दिया | यह वही जगह है जहाँ से पहली बार रोहित ने क्रिकेट खेलना शुरू किया था | रोहित रितिका को अपने लिए बहुत सौभाग्यशाली

मानते  है| रोहित और रितिका  को अभी पिछले साल ३० दिसंबर २०१८ एक पुत्री प्राप्त हुयी है, जिसका नाम समीरा रखा गया है |

रोहित शर्मा  आईपीएल कर्रिएर –

रोहित शर्मा ने आईपीएल करियर की शुरुआत २००८ में की थी |

रोहित ने अपना पहला आईपीएल मैच कोलकाता नाइट राइडर के विरुद्ध २० अप्रैल २००८ को ईडन गार्डन में खेला था | रोहित आईपीएल में सबसे सफल खिलाडियों में से एक है | रोहित को २००८ में डेक्कन चार्जर की मताधिकार ने लगभाग साढ़े ५ करोड़ में खरीदा था | रोहित ने २००८ के आईपीएल में बहुत रन बनाए, रोहित ने ४०४ रन बनाये थे आईपीएल २००८ में और काफी बार नारंगी टोपी को हासिल किये रखा था |

फिर २००९ में रोहित को इसी टीम का उप कप्तान बनाया गया | इस सीजन में रोहित ने आखरी ओवर में जीत के लिए ज़रूरी २१ रन को ताबड़ तोड़ चौके छक्के लगाकर २६ रन बना दिए थे | इसी साल के सीजन में रोहित ३ लगातार विकेट चटकाके हैटट्रिक अपने नाम की | वह आईपीएल के पांचवे ऐसे बॉलर बने जिसने हैटट्रिक अपने नाम की |

फिर २०११ में रोहित को मुंबई इंडियंस ने २ मिलियन डॉलर में नीलामी के टाइम खरीदा और तबसे रोहित मुंबई इंडियन के स्थायी खिलाड़ी और २०१३ स्थायी कप्तान है | रोहित ने २०१२ में कोलकाता नाइट राइडर्स के खिलाफ अपना पहला आईपीएल शतक लगाया और नाबाद १०९ रन बनाए |

और रिस्की पोंटिंग को उनके ख़राब प्रदर्श के कारण, रोहित को कप्तान बनाया गया और इसी २०१३ साल में मुंबई इंडियंस ने पहली बार आईपीएल का खिताब अपने नाम किया | सचिन तेंदुलकर भी उस समय मुंबई इंडियन टीम के प्रमुख खिलाड़ी थे | रोहित ने इसी साल चैंपियंस लीग टी-२० भी जीती थी |

इसके बाद २०१५ में भी रोहित ने मुंबई को आईपीएल में विजेता बनाया | फिर २०१७ में आखरी मैच में राइजिंग पुणे सुपरजायंट  को मात्र १ रन से हरा कर फिर विजय बनाया | अभी २०१९ का आईपीएल चल रहा है मुंबई फिरसे इस आईपीएल की मजबूत टीम दिख रही है |

रोहित के बारे में ख़ास और अहम् बातें –

  • वैसे रोहित के नाम अनेक ऐसी बातें है जो उन्हें असाधारण खिलाड़ी साबित करती है, जिसमे से प्रमुख बातें निम्न है –
  • रोहित शर्मा आज विश्व के दूसरे नंबर के सर्वश्रेष्ट बल्लेबाज़ है |
  • रोहित शर्मा एक लौते ऐसे बल्लेबाज़ है पुरे विश्व में जिन्होंने टी-२० क्रिकेट में ४ बार शतक लगाए है |
  • रोहित एक लौटे बल्लेबाज़ है जिनके नाम एक दिवसीय मैच में सर्वोत्तम रन बनाने का कीर्तिमान है |
  • रोहित का करियर आगे बढ़ने में महेंद्र सिंह धोनी का बहुत बड़ा हाथ है , धोनी ने ही उन्हें पारी की शुरुआत करने के लिए कहा और उसके बाद रोहित महँ खिलाडी में गिने जाने लगे |
  • रोहित का प्रदर्श शादी के बाद और पहले बल्लेबाज़ी करने से एक तरफ़ा हो गया और आज हर रिकॉर्ड वह तोड़ते जा रहे है |
  • रोहित चक्का लगाने में आज सबसे आगे है |
  • रोहित ने पहला एक दिवसीय मैच २३ जून २००७ को आयरलैंड के विरुद्ध खेला था |
  • रोहित के टी-२० मैचों की शुरुआत १९ सितम्बर २००७ को इंग्लैंड के खिलाफ हुयी थी |
  • रोहित ने अपने टेस्ट मैच का शुभ आरम्भ २०१३ १६ नवंबर को वेस्ट इंडीज के खिलाफ किया था और अपने पहले ही टेस्ट मैच में शतक लगाया था |
  • रोहित ने १०८ वनडे खेल लिए तब जाके उन्हें टेस्ट मैच में खेलना का मौका दिया गया |
  • रोहित अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट के तीनों रूपों में ३ शतक बनाने वाले पहले और एक लौते बल्लेबाज है |
  • रोहित के नाम टी-२० में सबसे तेज़्ज़ शतक लगाने का भी किरीतिमान है उन्होंने ३५ गेंदों में १०० रन बनाये थे श्रीलंका के विरुद्ध |
  • रोहित को  एक दिवसीय मैच में सर्वाधिक ३३ चौका लगाने का विश्व कीर्तिमान हासिल है|
  • रोहित को  एक दिवसीय मैच में सर्वाधिक १६ छक्के लगने का विश्व कीर्तिमान हासिल है|
  • रोहित ने तीन बार २०० का अकड़ा पार किया है जिसमे २०९, २६४ और २०८ रनो क पारी शामिल है|

अंततः रोहित शर्मा दुनिया के महान खिलाडियों में से एक है और आने वाले २०१९ विश्व कप में वह अपना जादू फिरसे बिखेरे हमारी यही शुभ कामनाये है, और रोहित बेजोड़ता से हमेशा के लिए पार पाकर संगति की और आगे बढ़ते रहे|

जुड़े रहे hindi.todaysera.com के साथ !

रोहित शर्मा का जीवन परिचय | Rohit sharma biography in Hindi
5 (100%) 1 vote[s]
READ  नरेंद्र मोदी की जीवनी | नरेन्द्र मोदी का जीवन परिचय | Narendra Modi Biography in Hindi