हिंदी में एफआईआर कैसे लिखें | FIR Kaise Likhen in Hindi

0

Police Station Ke Liye Application FIR


दोस्तों क्या आपको F.I.R दर्ज कराने के लिए लिखित में दी जाने वाली प्रार्थना पत्र कैसे लिखे । How to write F.I.R.एप्लीकेशन के बारे में पता है यदि नहीं तो इस पोस्ट हम पूरी जानकारी आपके साथ साझा करेंगे|

हिंदी में एफआईआर कैसे लिखें FIR Kaise Likhen in Hindi

  चलो दोस्तों आज पुलिस को देने के लिए एफ॰आई॰आर॰ एप्लीकेशन पत्र लिखना के बारे में सीखते हैं| 


दोस्तों F.I.R. की फुल फॉर्म फर्स्ट इनफॉरमेशन रिपोर्ट होती है एफ॰आई॰आर॰ कैसे लिखी जाती है और उसमें छिपी भी जो भी बारीकियां है उनके बारे में यहां इस पोस्ट में हम जानेंगे।

आजकल भारत में अपराध की घटनाएं बढ़ रहीं है और सबसे ज्यादा भारत की राजधानी दिल्ली में होती हैं|आजकल के बढ़ते हुए आपराधिक परिपेक्ष्य को देखते हुए एफ॰आई॰आर॰ लिखवाने की या लिखने की आवश्यकता किसी ना किसी को पढ़ ही जाती है।जब हम एफ॰आई॰आर॰ लिखवाने जाते हैं पुलिस थाने में तो उसके लिए हमें जीन चीजों की आवश्यकता होती है – कब,क्यों,कैसे,कहां,किसने,किस लिए,कौन व्यक्ति था ऐसे अनगिनत सवालों का सामना हमें करना होता है।

परंतु जब इन्हीं सब चीजों के लिए एफ॰आई॰आर॰ एप्लीकेशन को हमें खुद से लिखना होता है उसमें इन चीजों को लिखने के साथ-साथ हमें और क्या करना होता है वह हम जानेंगे।

लेकिन उससे पहले हम जानेंगे कि एफ॰आई॰आर॰ जिसे फर्स्ट इनफॉरमेशन रिपोर्ट या प्रथम सूचना रिपोर्ट भी कहा जाता है और एफ॰आई॰आर॰ एप्लीकेशन इन दोनों के बीच का अंतर। एफ॰आई॰आर॰ लिखवाने हम पुलिस स्टेशन जाते हैं और जो प्रत्यक्षदर्शी होता है वह सब इंफॉर्मेशन या सूचना पुलिस को देता है और पुलिस उसको ऑन रिकॉर्ड दर्ज करती है किंतु अगर हम एफ॰आई॰आर॰ एप्लीकेशन की बात करें तो वह वो व्यक्ति होता है जिसके साथ या अपनों के साथ यह किसी जानने वाले के साथ अपराध हुआ होता है तो वह एफ॰आई॰आर॰ एप्लीकेशन लिखता है और जाकर पुलिस थाने में उसको जमा कराता है।

 एफ॰आई॰आर॰ एप्लीकेशन लिखने के लिए हमें जिन जिन चीजों की आवश्यकता होती है वह है:

  1. एक सफेद A4 साइज का कागज जिस पर हमें एफ॰आई॰आर॰ एप्लीकेशन लिखनी है। 
  2. वह तारीख और समय जब कोई घटना घटित हुई है। 
  3. वह घटना जिस जगह हुई है क्षेत्र के पुलिस थाने का नाम। 
  4. घटना से संबंधित जो भी प्रत्यक्षदर्शी है या गवाह है उनके उस एप्लीकेशन पर हस्ताक्षर। 
  5. घटना अगर किसी गांव या देहात की है तो वहां के प्रधान के हस्ताक्षर| 
  6. घटना से संबंधित पूरा साफ-साफ ब्योरा उस एप्लीकेशन में उल्लेखित हो। 
  7. f.i.r. एप्लीकेशन को बिल्कुल साफ शब्दों में और सरल भाषा में लिखें। और इसके लिए कम से कम शब्दों में इसे लिखने की कोशिश करें ताकि पढ़ने वाले को तुरंत ही सब समझ में आ जाए।

 इन सभी चीजों की आवश्यकता एक एफ॰आई॰आर॰ एप्लीकेशन लिखने के लिए जरूरी होती है।

Police Station में Application देने के फायदे

एफ॰आई॰आर॰ एप्लीकेशन लिखने का फायदा यह है कि इसमें जो आपने गवाहों के हस्ताक्षर कराए हैं या प्रधान जी के हस्ताक्षर कराए हैं तो यह एप्लीकेशन एक सबूत के तौर पर भी आप के केस में उपयोगी होती है। साफ-साफ शब्दों में कहें तो इस एप्लिकेशन का उपयोग एक सबूत के तौर पर भी होता है क्योंकि इसमें गवाहों के हस्ताक्षर होते हैं तथा प्रधान के हस्ताक्षर होते हैं।

READ  बैंक पासबुक के लिए आवेदन पत्र | Application Letter for Bank Passbook in Hindi

मान लीजिए कोई आपको परेशान कर रहा है आपने एफ॰आई॰आर॰ एप्लीकेशन लिखी और गवाहों के हस्ताक्षर या प्रधान के हस्ताक्षर उस पर लिए एफ॰आई॰आर॰ एप्लीकेशन को पुलिस थाने में जमा करा दिया।भविष्य में यदि उस व्यक्ति द्वारा आपको कोई भी नुकसान पहुंचाया जाता है तो उस एफ॰आई॰आर॰ एप्लीकेशन के माध्यम से उसको एक ठोस सबूत मानते हुए क्योंकि उसमें प्रत्यक्षदर्शियों के भी हस्ताक्षर है उस अपराध करने वाले इंसान पर पुलिस तुरंत सख्त से सख्त कार्यवाही करेगी।

 पुलिस को दी जाने वाली एफ॰आई॰आर॰ एप्लीकेशन को देने के लिए किसी भी प्रकार की फीस की आवश्यकता नहीं होती है।

एफ॰आई॰आर॰ एप्लीकेशन लिखने का पूर्ण व सही तरीका कैसा है वह इस उदाहरण के तौर पर दी गई एफ॰आई॰आर॰ एप्लीकेशन से समझें।

सेवा में,

 श्रीमान मुख्य थाना प्रबंधक महोदय

 गणेश नगर पूर्वी दिल्ली

 विषय: दबंग पड़ोसी द्वारा बार-बार धमकियां मिलना

 महोदय,

 सविनय निवेदन यह है कि मैं सुबोध चंचल निवासी E 20 फ्लेट नंबर 5 गणेश नगर पूर्वी दिल्ली का निवासी हूं। मेरे पड़ोस में रहने वाले श्रीमान् रतनलाल द्वारा आए दिन कोई न कोई दुर्व्यवहार किया जाता है आजकल गाली-गलौज भी इतना बढ़ गया कि यह सब अब आम बातें हो गई है।जबकि मैं इस फ्लैट में अपने परिवार सहित निवास करता हूँ।जिसमें मैं,मेरी धर्म पत्नी,मेरा १०वर्ष का पुत्र और मेरी १५वर्षीय पुत्री है, जिस कारण मै अब भयभीत हो चूका हूँ।

घटना १३ अप्रैल  २०१७ शाम के ७ बजे के बाद की है मेरा पड़ोसी रतन लाल अपने कुछ शराबी दोस्तों के साथ मेरे मुख्य द्वार के बाहर बैठ कर शराब पी रहा था।मेरे ऑफिस से आते ही मैंने उसे रास्ते से हटने को कहा तो मेरा कोलर पकड़ कर खूब गली दी और मेरे परिवार को तबाह करने की धमकी दी।

दरसल बात यह है की मैंने यह फ्लैट २साल पहले १९ मार्च २०१५ को ख़रीदा था और यहाँ निवास करने आ गया था।पहले एक महीने सब सामान्य था।

बस एक दो बार कुछ टोन टोटकों जैसा कुछ किया गया था मेरे घर के मुख्य द्वार पर किन्तु मेरा परिवार इन सबको नहीं मानता है तो सब सामान्य रहा फिर धीरे धीरे उनका परिवार छोटी-मोटी चीज़ों को मुद्दा बना कर अक्सर झगड़ने लगे।ऐसा करते-करते ये समय बीत गया और मुझे ज्ञात हुआ की ये फ्लैट यह अपने किसी रिस्तेदार को दिलाना चाहता था पर ये किसी कारण नहीं हुआ। जिससे इन्होंने ये तरकीब निकली की हमारे परिवार को हर रोज तंग करके ये ऐसा कर पाएंगे।किन्तु अब हद्द हो गई है रोज पीना गुंडे जैसे लोगों का यहाँ आना जाना और बात अब धमिकियों तक पहुँच गई है।

READ  प्रधानाचार्य को छात्रवृति के लिए आवेदन पत्र | Pradhanacharya ko Chatravriti Pradan Karne Hetu Patra

अब इन लोगों का कोई भरोसा नहीं रह गया है।मेरे परिवार की सुरक्षा को लेकर हर क्षण बड़ी चिंता है।मेरे परिवार को आप ही सुरक्षा प्रदान करें सार्वजनिक तोर पर गुंडागर्दी अपराध है।कृपया कर हमारी मदद करें।

धन्यवाद!

आपका विश्वासी

सुबोध चंचल

 गवाह

 सुरेंद्र सिंह (हस्ताक्षर)

 पवन कुमार (हस्ताक्षर)

इस प्रकार आप पुलिस को घटना की जानकारी दें सकते है।इस तरह पुलिस को दी गयी जानकारी आपको भविष्य में किसी भी अनहोनी से बचाने के साथ-साथ यह भी पुख्ता कर देगी की आपको जो अमानवीय और निर्धारित नुकसान हुआ है उसमें कौन दोषी है।अपराध जैसा होगा उसी के अनुसार सब सबूतों के और गवाहों के होते हुए कार्यवाही तुरंत होगी।

उम्मींद करते है यह जानकारी सरल और आपके लिए उपयोगी रही होगी। इसके साथ ही आप आपके कोई भी सम्बंधित प्रश्न हो उसे कमेंट में लिखना ना भूलें।

 

यह थी fir दर्ज कराने के लिए लिखित में दी जाने वाली प्रार्थना पत्र कैसे लिखे । How to write fir एप्लीकेशन। आशा करता हूँ Police Station Ke Liye Application FIR  related जानकारी प्राप्त हो गयी होगी । मैं कुछ ऐसी ही posts आगे update करता रहूँगा, जिससे आप अपनी समस्या का समाधान प्राप्त कर सकते हैं। आप चाहे तो इस page को bookmark कर लीजिये और अपना सुझाब निचे comment करना ना भूलें। आपको यह लेख fir दर्ज कराने के लिए लिखित में दी जाने वाली प्रार्थना पत्र कैसे लिखे । How to write fir एप्लीकेशन कैसा लगा हमें comment में लिखकर जरूर बताएं ताकि हमें भी आपके विचारों से कुछ सीखने का मोका मिले। हमारे पोस्ट के पढ़ने के लिए हम आपका आभार व्यक्त करते हैं।

READ  नौकरी के लिए आवेदन पत्र | Application Letter for a Job in Hindi

कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि व्हाट्सप्प, Facebook, Instagram और Twitter इत्यादि पर share कीजिये।

जुड़े रहे hindi.todaysera.com के साथ !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here