IOT क्या है? I IoT kya hai (Internet of Things) In Hindi

IOT क्या है? I IoT kya hai (Internet of Things) In Hindi

दोस्तों  आज हम इस पोस्ट में IOT का क्या मतलब है? (What is IoT (Internet of Things) In Hindi) के बारे में जानेंगे। यदि आपको नही पता है तो यहाँ आपको पूरी जानकारी मिलेगी।

IOT का क्या मतलब है? (What is IoT (Internet of Things) In Hindi)

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि आईओटी दुनिया भर में उद्योगों, घरों, परिवहन और बहुत कुछ में प्रौद्योगिकी बदल रहा है। इसका असर लगभग हर जगह जैसे कृषि, स्वास्थ्य सेवा, विनिर्माण, परिवहन, सैन्य और बहुत कुछ में है। लेकिन गर्मी का मतलब IOT से है? इसका वास्तव में क्या अर्थ है?

तकनीकी रूप से, अन्य वेबसाइटों पर पाई जाने वाली वास्तविक परिभाषा है

“इंटरनेट ऑफ थिंग्स (IoT) एक परस्पर संबंधित कंप्यूटिंग डिवाइस, मैकेनिकल और डिजिटल मशीनों, वस्तुओं, जानवरों या लोगों की एक प्रणाली है जो अद्वितीय पहचानकर्ताओं और मानव-मानव या मानव की आवश्यकता के बिना एक नेटवर्क पर डेटा स्थानांतरित करने की क्षमता प्रदान करते हैं। -कंप्यूटर बातचीत बहुत अधिक तकनीकी शब्द। नहीं? इस लेख में हम आपको गैर तकनीकी शब्दों में IOT के बारे में बताने जा रहे हैं।

IOT क्या है? I IoT kya hai (Internet of Things) In Hindi

IOT क्या है – IOT सरल शब्दों में

लंबी कहानी छोटी, कुछ भी या आप जो कुछ भी उपयोग कर रहे हैं वह मोबाइल, वाईफाई, ब्रॉडबैंड के माध्यम से इंटरनेट से जुड़ा है, IoT है। हम सभी जानते हैं कि इंटरनेट अब कितना महत्वपूर्ण हो गया है। सेलुलर फोन से स्मार्ट फोन तक, हम इंटरनेट के नए युग में कूद गए हैं। इंटरनेट एक अद्भुत चीज है जो ज्ञान और सूचना के डेटा के खरबों तक पहुंच प्रदान करता है। यह हमें ज्ञान और मनोरंजन प्रदान करने के लिए शब्दों, ऑडियो, वीडियो, गतिविधियों, अनुप्रयोगों, साइटों का उपयोग करता है। आप किसी से बात करने के लिए कॉल कर सकते हैं, एक ई-बुक पढ़ सकते हैं, कोई भी फिल्म देख सकते हैं, पिज्जा ऑर्डर कर सकते हैं या एक नया उपकरण ले सकते हैं, आप पैसे भी ट्रांसफर कर सकते हैं। यह सब इंटरनेट और स्मार्टफोन जैसी डिवाइस की मदद से होता है।

यह अन्य उपकरणों में इंटरनेट द्वारा दी गई शक्ति का उपयोग करना है जो कंप्यूटर और स्मार्टफोन को भी प्रेरित करता है। इसमें इंटरनेट से जुड़ने की क्षमता वाला हर दूसरा उपकरण शामिल है। उन उपकरणों को जो एक साथ जुड़े हुए हैं उनका उपयोग जानकारी इकट्ठा करने और जानकारी भेजने या दोनों के लिए किया जाता है।

आईओटी का महत्व

जब हम किसी डिवाइस को इंटरनेट से कनेक्ट करते हैं, तो वह डिवाइस वेब से सूचना भेज और प्राप्त कर सकता है। डेटा भेजने और प्राप्त करने की यह सेवा एक सूचना के रूप में एक स्मार्टफोन की मूल बातें में उपयोग की जाती है। उदाहरण के लिए, आप इंटरनेट पर मुख्य रूप से YouTube पर कोई भी वीडियो देख सकते हैं, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि आपके स्मार्टफोन / डिवाइस में वह वीडियो है। ऐसा इसलिए है क्योंकि उस वीडियो को दुनिया में कहीं और सर्वर पर सहेजा गया है, और आप उस वीडियो को जानकारी भेज और प्राप्त करके उस तक पहुंच सकते हैं। यहां भेजने पर उस वीडियो के लिए अनुरोध किया जाएगा और उस वीडियो को ऑनलाइन प्राप्त किया जाएगा।

इस प्रकार, एक स्मार्ट डिवाइस होने के लिए, आपको भारी प्रोसेसर के साथ उच्च भंडारण या कंप्यूटर की आवश्यकता नहीं है, लेकिन उच्च भंडारण और डेटा के साथ किसी अन्य डिवाइस से कनेक्ट करने में सक्षम होने के लिए।

यह भी पढ़ें   रैम (RAM in Computer) क्या है? I What is RAM in Hindi I रैम कितने प्रकार की होती है?

हम उन सभी चीजों को निर्दिष्ट कर सकते हैं जिन्हें इंटरनेट से तीन सरल श्रेणियों में जोड़ा जा सकता है:

● वे उपकरण जो जानकारी एकत्र करने और भेजने में सक्षम हैं।

● वे उपकरण जो सूचना प्राप्त कर सकते हैं और आवश्यक कार्रवाई कर सकते हैं।

● उपकरण जो उपरोक्त दोनों कार्यों को कर सकते हैं।

आईओटी का लाभ

इंटरनेट ऑफ थिंग्स व्यापार और लोगों को अंतर्दृष्टि प्रदान कर सकता है और नियंत्रित कर सकता है। इसमें 99 प्रतिशत से अधिक वस्तुएं और उपकरण शामिल हैं जिन्हें इंटरनेट से जोड़ा जा सकता है। इस प्रकार, आईओटी व्यापार और लोगों को उनके आसपास की दुनिया से जोड़ता है ताकि उपयोगकर्ता को समय के एक छोटे से समय के भीतर उच्च अर्थ और महत्व के साथ विशिष्ट नौकरी मिल सके।

1. एकत्रित करना, सूचना भेजना
इसमें तापमान, गति, वायु गुणवत्ता, स्पर्श जैसे सेंसर शामिल हैं। इस प्रकार पर्यावरण से जानकारी एकत्र करना

2. प्राप्त करना, सूचना पर कार्रवाई
इनमें रिंटर, माइक्रोवेव, टीवी और बहुत कुछ शामिल है जो जानकारी प्राप्त करता है और तदनुसार कार्य करता है।

3. दोनों करना
उदाहरण के लिए, एयर कंडीशनर, जो कमरे के तापमान को महसूस करता है और स्वचालित रूप से लेने के लिए शीतलन को समायोजित करता है।


 

IOT (Internet of Things)  के बारे पूरी जानकारी  in Hindi

 

दोस्तों आज मैं बहुत ही रोचक जानकारी आपको बताने वाला हू आप सब Internet के बारे मे तो सुने हो लेकिन

 

internet of things यानी Iot क्या है शायद ये थोड़ा आपके लिए नया होगा तो चलिए आप एक पल के लिए ये सोच

 

ले आपको अगर आपके परिवार के लोग आपको मार्केट से कोई वस्तु लाने के लिए भेजते है और आपकी जाने की

 

इच्छा नहीं है तो आप अपने घर पर बैठे ही उस वस्तु ऑर्डर कर देते है और वो आपके सामने हाजिर हो जाता है,

 

जी हाँ आप अब कोई भी समान सोचे और वो आपके उपलब्ध हो जाए तो कितना आनंददायक अनुभूति होगी तो

 

अब ये सब हकीकत होने वाला है सिर्फ Internet of Things (Iot) के द्वारा अब कोई भी कार्य सिर्फ कल्पना मात्र नहीं होगा अगर आप चाहें तो Iot technology आपको हकीकत मे बदल कर देगी.

 

तो चलिए दोस्तों आज हम आपको internet of things क्या है और इसके इस्तेमाल कैसे करते है बात करते है.

 

IOT (Internet of Things) क्या है पूरी जानकारी  in Hindi –

 

बिलकुल simple language मे आपको बता दे कि Iot internet of things के माध्यम से किसी भी वस्तु को, स्थान

 

को और मनुष्य को परस्पर एक दूसरे से जोड़कर इनके बीच आसानी से किसी भी कार्य का आदान प्रदान करना

 

होता होता है यानी इन्टरनेट के द्वारा सारी चीजों को जोड़कर आसानी से दैनिक जीवन मे इस्तेमाल किया जा सके.

 

Iot के द्वारा जिन वस्तुओं को एक दूसरे जोड़ा जाता है उनमे भौतिकी वस्तुए तो जैसे टीवी, फ्रिज, कूलर, वाशिंग

 

मशीन, फोन, सभी चालित सवारी और स्थान मे घर, पार्क, बाजारों, आफिस और पुस्तकालय को शामिल किया जा सकता है और व्यक्ति मे कोई भी इंसान हो जाएगा.

 

ये सभी एक दूसरे से जुड़ी हुयी चीजे परस्पर तरीके से एक दूसरे comunication

 

स्थापित करती है जैसे – इंसानो से इंसानो के बीच, इंसानो तथा मशीन के बीच और मशीन से मशीन के बीच.

 

IOT (Internet of Things) कैसे काम करता है (How Iot workes ) in hindi-

 

आप ये जान ले Iot एक स्मार्ट डिजिटल डिवाइस से बना होता है जिसके द्वारा यह पता लगाया

यह भी पढ़ें   Java क्या है और कैसे सिखे? | What is Java and How to Learn Java in Hindi?

 

जाता है कि आसपास के वातावरण से प्राप्त डाटा को किस तरीके से इकट्ठा करके प्राप्त कर

 

सम्बन्धित Iot gateway को भेजा जाएगा जिस Iot डिवाइस को यह डाटा भेजा जाता है तो उसका

 

विश्लेषण सर्वर पर करके यह फैसला लिया जाता है कि डेटा को सुरक्षित रखना है या कहीं और भेजा जाना है.

 

चलिए आपको एक उदहारण से समझाते है

 

मान ले आप कोई दुकान चलाते है आपके दुकान मे बहुत ढेर सारी समाने है तो कैसा समान ज्यादा बिकता है इसकी जानकारी रखना चाहेंगे कि समय से ही उसको उपलब्ध कराया जा सके.

 

इसके लिए आप कुछ चीजों का डाटा तैयार करेंगे जिससे आप पता लगा पाए तो इसके लिए सबसे

 

पहले आप ये देखेंगे कि किस स्टॉक पर लोग ज्यादा जा रहे

 

दूसरा किस समान को ज्यादा पसंद कर ले रहे है.

 

इस प्रकार अगर जानकारी आपको मिलते रहते है तो आप समय से बिक्री कर अच्छा पैसा कमा लेते है ये सब कार्य Iot के द्वारा ही सम्भव हो पाया है.

 

Iot का उदाहरण  और उपयोग (example and Use) in hindi-

 

आज कल समय के साथ हर चीज़ की जरूरत बढ़ती जा रही और लोग कम समय मे कम मेहनत करके आसानी से

 

हर जरूरतों को पूरा करने की कोशिश कर रहे हैं और ये सब Internet of things के जरिये सम्भव हो पाया है.

 

Iot का हमारे दैनिक जीवन मे कई प्रकार से उपयोग होने लगे है तो चलिए जानते हैं –

 

निर्माण (Manufacturing) मे –

 

आज कल बहुत ढेर सारे बड़े बड़े उद्योगों मे बडी बड़ी मशीनों का निर्माण करने मे या प्लांट स्थापित करने मे Iot का इस्तेमाल होने लगा है.

 

मोटर वाहन के क्षेत्र मे –

 

Iot का उपयोग अब मोटर वाहन को बनाने मे भी किया जाने लगा है अभी कई देशों ने बिना ड्राइवर के चालित गाड़ी यानी कार को बनाया है जो सिर्फ रिमोट कंट्रोल से चलती है ये सब Iot की ही देन है.

 

परिवहन के क्षेत्र मे उपयोग –

 

आज कल परिवहन क्षेत्र मे Iot का उपयोग अक़्सर देखने को मिल जाता होगा आप सड़क पर

 

सवारी करते होंगे और आपके सामने ट्राफिक लाइट रेड हो जाए या ग्रीन हो जाए या आप अपनी

 

गाड़ी लेकर भाग रहे हो और आपको ट्रैक कर लिया जाए ये सब Iot के द्वारा ही सम्भव हो पाता है.

 

कृषि के क्षेत्र मे –

 

Iot का इस्तेमाल करके ही कृषि से संबंधित सभी भविष्यवाणी हमारे वैज्ञानिक कर देते कब बारिश

 

होगी कब तूफान आएगा मौसम कब कैसा रहेगा इसका पता डाटा इकट्ठा Iot के द्वारा ही करके किया जाता है.

 

मेडिकल तथा health केयर मे Iot का इस्तेमाल –

 

दोस्तों आप यहां पर काफी आसानी से समझ जाएंगे कि Iot का उपयोग आपके जीवन से कैसे जुड़ा

 

हुआ है मान ले आपका तबीयत खराब हो गया और आप डॉक्टर के पास गए तो डॉक्टर कुछ यंत्रों

 

से आपके शरीर को चेक कर यह जानकारी प्राप्त करेगा कि आपको किस प्रकार की बीमारी हुयी है

 

और उसका इलाज कैसे करना है ये सब जो जानकारी है डॉक्टर को एक डिवाइस से कनेक्ट हो कर

 

पता चल गया ये सब डेटा डॉक्टर को प्राप्त हुआ मशीन के द्वारा वह Iot के माध्यम से सम्भव हो

 

पाया है अब उपचार किस बीमारी का करना है डॉक्टर आसानी से जान जाता है फिर आपका उपचार होता है.

 

 

Iot से क्या लाभ और क्या नुकसान है –

यह भी पढ़ें   Router क्या है? (About Router) in Hindi | What is Router?

 

Iot के कुछ फायदे भी है आजकल हर कोई चाहे आम नागरिक हो या फिर कोई busines

man सब Internet of things का इस्तेमाल कर रहे है

 

आइए इसके लाभ जानते है –

 

  1. आजकल किसी भी कार्य को करने मे iot के माध्यम से आसानी हो गयी है इससे कोई भी कार्य कम परिश्रम मे कम लोगों के साथ कम समय मे पूरा किया जा सकता है.

 

  1. किसी भी व्यापारी और ग्राहक के बीच एक मजबूत सम्बन्ध बनाने तथा व्यापार को बढ़ाने मे लाभ मिला है

 

  1. नयी नयी तकनीकों का का इस्तेमाल करके कामगारों से आसानी से कार्य पूरा कराने मे iot बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है.

 

  1. लोगों के जीवन मे भी सुधार हुआ है क्यु की समय से किसी भी जानकारी को प्राप्त कर अपने जीवन उपयोग कर हर चीज़ को आसान बनाया है.

 

अब कहीं से भी कोई भी सूचना सही और सटीक प्राप्त कर सही निर्णय लेने मे iot ने सक्षम बनाया है.

 

 

Iot के लाभों के साथ-साथ कुछ हानियों को भी जान लेते है –

 

Iot के वजहों से अगर हर कार्य आसानी से हो जाएगा तो बेरोज़गारी बढ़ने का ज्यादा खतरा है.

 

दूसरा आपका डाटा की privacy को हमेशा खतरा बना रहता है.

 

 

 

Iot (internet of things)का इतिहास (History of Iot) in hindi-

 

दोस्तों स्मार्ट डिवाइस को आपस मे जोड़कर एक आधुनिक नेटवर्क बनाकर सामानों को

 

क्रिया कलापों के बारे मे जानकारी तो साल 1982 से शुरू कर दिए गए उस समय के

 

डिवाइस ये पता लगाने मे सक्षम बनाए गए थे कि किसी स्टॉक मे रखे सामानों को ये बताया जा सके कि उनका स्वभाव कैसा है.

 

परंतु मुख्यतः Internet ऑफ things( Iot) के निर्माता Kevin Ashthon माने जाते है जो सबसे पहले साल 1999 मे internet of things शब्द का प्रयोग किया था ये एक MIT’s  Auto – id center मे काम करते थे.

 

इन्होंने शुरुआत मे एक तकनीक की प्रयोग करने की सलाह दी जिसका नाम था Radio

 

Frequency Identification इसके द्वारा computer अलग अलग device से जोड़कर एक सूचना एक्सचेंज कर सकता था.

 

आखिर मे आप ये जान ले Iot का हिस्सा वो हर डिवाइस बन सकते है जो एक दूसरे से connect हो अर्थात जिस किसी भी डिवाइस मे स्विच on या off की सुविधा हो वे Iot का हिस्सा हो सकते है.

 

उम्मीद है आपको ये ब्लॉग पसंद आयी होगी अगर आप किसी भी चीज़ की जानकारी चाहते है तो हमे कॉमेंट करे हम उस टॉपिक पर आपके लिये जानकारी उपलब्ध कराएंगे..

Also Read:- घर बैठे ऑनलाइन पैसे कैसे कमाये

आज की पोस्ट के माध्यम से आपने जाना की IOT क्या है? I IoT kya hai (Internet of Things) In Hindi और आपको इस पोस्ट के द्वारा हमने IOT क्या है? I IoT kya hai (Internet of Things) In Hindi के बारे में भी बताया। आशा करते है की आपने इस पोस्ट के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त की होगी।

इस पोस्ट की जानकारी आप अपने Friends को भी दे। तथा Social Media पर भी यह ज़रुर Share करे। जिससे और भी ज्यादा लोगों के पास यह जानकारी पहुँच सके।

हमारी पोस्ट में आपको कोई परेशानी है या आपका कोई सवाल है, इस पोस्ट के बारे में तो Comment Box में Comment करके हमसे पूछ सकते है। हमारी Team आपकी Help ज़रुर करेगी।

अगर आपको हमारी यह पोस्ट पसंद आई है तो इस पोस्ट को फेसबुक, InstagramTwiiter और Pintrest पे share करें

ऐसे ही रोजाना जानकारी पाने के लिए जुड़े रहे hindi.todaysera.com के साथ।

error: Content is protected !!