लैला-मजनूं की असली प्रेम कहानी | Laila Majnu Real Love Story In Hindi

दोस्तों आज हम इस पोस्ट में लैला-मजनूं की असली प्रेम कहानी के बारे में पढ़ेंगे। (Laila Majnu Real Love Story In Hindi)

लैला-मजनूं की असली प्रेम कहानी | Laila Majnu Real Love Story In Hindi

दुनिया में सच्चे प्यार करने वाले बहुत देखे गए हैं लेकिन उनमें से कुछ ही प्रेमी जोड़ियां ऐसी होती हैं जिनका प्यार हमेशा के लिए अमर हो जाता हैं और उनकी कहानियां बाकी प्यार करने वालों के लिए उदाहरण बन जाती हैं और उन सच्चे प्यार करने वालों की मिसाल दी जाती हैं कई मशहूर जोड़ी रहीं हैं जिनमे हीर-रांझा, सोहनी-महिवाल, रोमियो-जूलिएट और लैला-मजनूं इत्यादि। आज हम आपको लैला-मजनूं के अटूट प्रेम की कहनी के बारें में बताने जा रहें हैं।

लैला-मजनू की प्रेम कहानी

लैला मजनूं की कहानी शुरुआत अरब से शुरु होती हैं अरब की एक आमिर जनजाति का एक युवक जिसका नाम कैस था वो इस कहानी का मुख्य नायक हैं। वो अरब के शाह अमीरी का बेटा था, जब उसने दमिश्क के दरबार मे मल्लिका को देखा तो तब से लैला मजनूं की प्रेम कहानी शुरू हुई।

जब कैस ने दमिश्क के मदरसे में बेहद आकर्षित दिखने वाली लैला को देखा तो पहली बार में ही उसे लैला से प्रेम हो गया और उसे अपना दिल भी दे बैठे। दरअसल कैस की प्रेम की लकीरें उसके हाथ में ही लिखी थी, जब उनका जन्म हुआ तो उसको देखकर ज्योतिष ने बताया कि ये प्यार के चक्कर में दर-बदर भटकेगा पर कैस के पिता ने कहा कि वो ऐसा होने नहीं देंगें। ज्योतिष की ये बात को झूठा साबित करने के लिए कैस के पिता ने काफी मन्नतें करी पर जो नसीब में पहले से लिखा होता हैं वो होकर ही रहता हैं।

यह भी पढ़ें   मोटू और पतलू की जोड़ी की कहानी , Motu Patlu Story in Hindi

Laila Majnu story in Hindi

दमिश्क के मदरसे में नाज्द के शाह की बेटी लैला को देखने के बाद कैस उसका दीवाना हो गया, वहां मौलवी ने उसे काफी समझाया कि वो प्यार से दूर रहें और केवल पढ़ाई में ही अपना ध्यान लगाए पर वो कहा समझने वाला था उसे तो केवल लैला ही दिखाई देती थी। कैस की मोहब्बत का असर लैला पर भी पड़ने लगा और वो भी कैस से बेइंतहा मोहब्बत करने लगी। यही से उन दोनों के बीच एक ऐसी प्रेम कहानी शुरू हुई जो अमर हो गई, अब लैला पर भी कैस की मोहब्बत का असर पड़ने लगा था और धीरे-धीरे इन दोनों के बीच प्रेम की चर्चा सब जगह होने लगी। लैला कैस से मिलने के लिए कई तरह के बहाने बना कर मिलने लगी।

उन दोनों के बीच बढ़ते प्रेम को लेकर लैला के पिता को काफी चिंता सताने लगी, इसी बीच कैस के पिता ने लैला के पिता से लैला और मजनूं के निकाह की बात की पर लैला के पिता ने उनके उस प्रस्ताव को नामंजूर कर दिया और लैला को एक कमरे में नजरबंद कर दिया और लैला के कही भी आने-जाने पर पाबंदी लगा दी। लैला के ना निकलने और उससे ना मिल पाने के कारण कैस दिन-प्रतिदिन परेशान रहने लगा और उसकी हालत बद से बदतर होने लगी, लैला की तलाश में वो जगह-जगह भटकने लगा। उसको पागलों की तरह भटकते हुए देखकर लोग उसे पागल कहने लगे और बहुत लोग उसे मजनू कहकर बुलाने लगे, उसका पागलपन दिन-प्रतिदिन बढ़ने लगा।

उसी दौरान लैला के पिता ने लैला का निकाह उनसे ऊंचे घर से ताल्लुक रखने वाले बख्त से कर दिया, अपने निकाह के बाद लैला ने अपने नए शौहर को बताया कि वो केवल कैस (मजनूं) से ही प्यार करती हैं और मजनूं के अलावा उस को कोई और छू नहीं सकता। ये सुनकर लैला को काफी यातनाएं दी गई पर लैला ने बख्त को अपना शौहर मानने से इंकार कर दिया। उसके बाद बख्त ने लैला से तलाक ले लिया, उसके बाद लैला मजनूं की तलाश में निकल गई।

यह भी पढ़ें   सोहनी महिवाल की प्रेम कहानी | Sohni Mahiwal Love Story In Hindi

मजनूं के मिल जाने के बाद उन दोनों ने सबसे दूर कही जाने का निश्चय किया, इस तरह दोनों सुरक्षित जगह की तलाश में राजस्थान के अनूपगढ़ जिले के बिंजोर पहुंच गए। वहां पर जब वो आराम कर रहे थे तो कुछ देर में लैला के भाई और उसके पिता वहां पहुंच गए और उन लोगों ने मजनूं को वही खत्म कर दिया। उसके बाद मजनूं के मरे हुए शरीर पर लैला ने भी अपनी जान दे दी, इसी के साथ उन दोनों ने मर कर प्यार की एक मिसाल कायम की।

उन दोनों के शरीर को वहीं पर एक साथ दफना दिया गया, आज भी इन दोनों की मजार मौजूद हैं और बहुत से प्रेमी जोड़े यहां मजार पर आते हैं प्रत्येक वर्ष 14 जून से 19 जून तक यहां मेला भी लगता हैं।

Also Read:- मूर्ख व्यक्ति की कहानी

तो दोस्तों मैं आशा करती हूं कि आपको हमारा यह पोस्ट पसंद आया होगा। तो कृपया करके इसे शेयर करें। इससे जुड़ा कोई भी सवाल आप कमेंट करके पूछ सकते हैं।

अगर आपको हमारी यह पोस्ट लैला-मजनूं की असली प्रेम कहानी (Laila Majnu Real Love Story) पसंद आई है तो इस पोस्ट को फेसबुक, Instagram और Pintrest पे share करें।

ऐसे ही रोजाना जानकारी पाने के लिए जुड़े रहे hindi.todaysera.com के साथ।

error: Content is protected !!