जनसंख्या वृद्धि पर निबंध ॥ Essay on The Population Growth

जनसंख्या वृद्धि पर निबंध | Population Growth Essay in Hindi

दोस्तों आज जनसंख्या वृद्धि पर निबंध के बारे में पढ़ने जा रहे हैं  जनसंख्या वृद्धि पर रोक आजकल बहुत जरुरी है। यदि जनसंख्या वृद्धि पर रोक हो जाय तो हमारा करियर अच्छा  हो जायेगा|

जनसंख्या वृद्धि पर निबंध : यह निबंध कक्षा 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, & 12 के विद्यार्थियों के लिए बनाया गया है और वह इसे अपनी परीछा  में उपयोग कर सकते हैं।

जनसंख्या वृद्धि पर निबंध
जनसंख्या वृद्धि पर निबंध

Population Growth Essay in Hindi- हमारे देश में दुगुनी तेजी के साथ जनसंख्या वृद्धि हो रही है. भारत देश चीन के बाद दूसरे स्थान पर है जनसंख्या वृद्धि के मामले में.अगर ऐसे ही हमारे देश में जनसंख्या वृद्धि बढ़ती रही तो कुछ सालो बाद भारत देश चीन से भी उपर हो जायेगा. जनसंख्या वृद्धि को रोकने के लिए सरकार निरंतर प्रयास कर रही है. अखबारो और टेलीविजन में इसके बारे में विज्ञापन भी आते रहते है. स्कूलों में इनके बारे में छात्रो को भी बताया जाता है.

स्कूल में छात्रो को परीक्षा में जनसंख्या वृद्धि के उपर निबंध लिखने के लिए दिये जाते है.लेकिन कई छात्रो को (population growth essay)जनसंख्या वृद्धि के ऊपर निबंध लिखने नही आता है. तो हम आपको बतायेंगे जनसंख्या वृद्धि के उपर कैसे निबंध लिखते है.यदि आपको नही पता है की जनसंख्या वृद्धि होने के क्या कारण है. जनसंख्या वृद्धि को कैसे रोके. तो आज हम जनसंख्या वृद्धि के बारे में भी जानेंगे.(Population growth essay in hindi)

इसे भी पढे़- भारत देश में कुल कितने राज्य है

जनसंख्या वृद्धि के कारण॥Cause of Population Growth

जनसंख्या वृद्धि होने के कई सारे कारण है. जिनकी वजह से आज देश में अरबों की संख्या हो गयी है. जनसंख्या वृद्धि को रोकने के लिए सबसे पहले उनके कारणों को जानना ज्यादा जरुरी है. जब हमें उनके कारण पता होंगे तभी हम उसे रोकने में सफल हो पायेंगे. इसलिए चलिए जानते है की जनसंख्या वृद्धि के कारण ।

अशिक्षित होना – जनसंख्या वृद्धि में अशिक्षा एक महत्वपूर्ण मुद्दा है. शिक्षित न होने की वजह से लोगों को उनके अधिकारों के बारे में सही जानकारी नही होती है. ऐसे लोगो का कोई भी भविष्य नही होता है. इन्हे पूर्ण रुप से सही जानकारी नही होती है. की शादी करने का सही उम्र क्या होनी चाहिए. परिवार को बढ़ाने का सही आयु क्या होनी चाहिए. और कितने अंतराल में बच्चा पैदा करना चाहिए. आदि ।

बाल विवाह – जनसंख्या वृद्धि बढ़ने के मामले में सबसे ज्यादा पाया जाने वाला कारण बाल विवाह है. कई गांवो और शहरो में लोगो की कम उम्र में ही शादी हो रही है. कम आयु में विवाह कर देने  से जनसंख्या बहुत तेजी से बढ़ती है. क्योकि उन्हे सही ज्ञान नही होता है कि मेरी आयु क्या है, क्या मुझे अभी अपने परिवार को बढाना चाहिए या नही. ऐसे समय में उनके सोचने की क्षमता बहुत कम होती हैं. और उन्हे गर्भनिरोधक के बारे भी कुछ पता नही होता है जिसका परिणाम उन्हे एक बड़ा परिवार के रूप में मिलता है ।

READ  बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ पर निबंध - Beti Bachao Beti Padhao Essay in Hindi

इसे भी पढे़- बाल मजदूरी पर निबंध

मृत्यु दर में कमी – जनगणना में पता चला है की जन्म दर के तुलना में मृत्यु दर बहुत कम होती जा रही है. जो जनसंख्या वृद्धि में सबसे बड़ा कारण बन गया है. जितनी तेजी के साथ जन्म दर बढ़ रहा है उससे कम मृत्यु हो रहे है. जन्म एवं मृत्यु दर को संतुलित बनाये रखने के लिए जनसंख्या वृद्धि को रोकना होगा ।

जनसंख्या वृद्धि के क्या प्रभाव पड़ रहे है

जनसंख्या वृद्धि से मानव पर काफी प्रभाव पड़ रहे है. जैसे बेरोजगारी, भोजन, महंगाई, शिक्षा में कमी, जल प्रदूषण, वायु प्रदूषण तथा ग्लोबल वार्मिंग आदि का सामना करना पड़ रहा है.

बेरोजगारी – बेरोजगारी का मानव पर जनसंख्या वृद्धि का सबसे बड़ा प्रभाव पड़ रहा है. इतनी ज्यादा जनसंख्या होती जा रही है की लोगो को नौकरी मिलना असंभव हो गया है. जितना ज्यादा नौकरियाँ नही है उससे कही गुना लोग बेरोजगार बैठे है. नौकरी ना मिलने की वजह से कितने लोग हर साल आत्म हत्या कर लेते है. जिसका असर हमारे आने वाले युवाओ पर पड़ता है. जो देश के लिए एक बड़ा संकट बन गया है।

अनाज और महंगाई – जनसंख्या बढ़ने की वजह से अनाज में कमी आ रही है. जिसकी वजह से अनाज और भी महंगे होते जा रहे है. बढ़ती महंगाई कि वजह से लोगो को अपने जीवन की दैनिक जरुरतो को पूरा करना बहुत मुश्किल सा हो गया है. जिसकी वजह से लोगो में माहामारी भी फैल रही है. गरीब लोगों को अनाज खरीदना मुश्किल सा हो गया है. अनाज में कमी होने का कारण किसानो का आत्म हत्या कर रहे है. जिसकी वजह से अनाज में कमी हो रही है और महंगाई भी बढ़ रही है।

शिक्षा में कमी – कहा जाता है कि छोटा परिवार सुखी परिवार. इतनी महंगाई में बड़े परिवार में लोगो को अपने बच्चो को पढ़ाना मुश्किल हो गया है. जो लोग बेरोजगार है या उनका बड़ा परिवार है तो वह एक या दो लोग को ही पढ़ा सकते है. बाकी लोगो को शिक्षा देने में असमर्थ होते है उनके माता पिता. और जो लोग शिक्षा नही ले पाते है वो बेरोजगार भी रह जाते है. और कम उम्र में शादी भी करा दी जाती है. इसलिए छोटा परिवार ही चुने और खुश रहे।

READ  (Sabka Sath Sabka Vikas In Hindi) सबका साथ सबका विकास

इसे भी पढे- शिक्षा के महत्व पर निबंध

प्रदूषण में वृद्धि – जनसंख्या वृद्धि होने की वजह से बहुत सारी फैक्ट्री और कम्पनी बनायी जा रही है जो वायु प्रदूषण का मुख्य कारण है. अनेक प्रकार के वाहनो में बढोत्तरी हो रही है जो प्रदूषण को बढ़ाने का बहुत ही सरह तरीका है. प्रदूषित पर्यावरण होने कि वजह से ग्लोबल वार्मिंग भी बढ़ रहा है. जो जनसंख्या वृद्धि प्रदूषण को बढ़ाने का बहुत बड़ा कारण पाया गया है. प्रदूषण से बचने के लिए हमें जनसंख्या वृद्धि पर नियंत्रण रखना होगा।

जनसंख्या वृद्धि के समाधान

साक्षरता को बढ़ाये – अशिक्षित होना जनसंख्या वृद्धि का बहुत बड़ा कारण है जिसे रोकने के लिए सभी लोगो को शिक्षित होना बहुत जरुरी है. शिक्षा एक ऐसा उपकरण है जिससे जनसंख्या वृद्धि के साथ साथ देश की गरीबी को भी मिटा सकता है. जितना ज्यादा पढ़े लिखे लोग रहेंगे उतना ही बेरोजगारी को कम किया जा सकता है. इसलिए शिक्षित बने और दूसरो को भी शिक्षित बनाये. और देश की तरक्की में अपना हाथ बढ़ाये।

बाल विवाह रोके – कई क्षेत्रो में बाल विवाह कि प्रथा होती है तो कही पर माता-पिता अपने गरीबी के कारण अपने बच्चो की शादी नाबालिक अवस्था में ही कर देते है. और इसे रोकने के लिए हमें उनको इस प्रथा से मुक्त और उन्हे जागरुक करना चाहिए. हमारे इस प्रयास से हम बाल विवाह को हमेशा के लिए खत्म कर सकते है. जिससे जनसंख्या वृद्धि को काफी हद तक कम किया जा सकता है।

परिवार नियोजन – जनसंख्या वृद्धि को रोकने के परिवार नियोजन होना बहुत जरुरी है. पहले के लोगो की अभी भी वही सोच है. और उसी सोच से वह इस नये जमाने में चल रहे है. ऐसे लोगो के सोच को हमें बदलना होगा और उन्हे परिवार नियोजन के बारे में जागरुक करना होगा. पहले के लोग बच्चो को जन्म देने के लिए कोई अंतर नही रखते थे. लेकिन यह पूरी तरह गलत है सही तरीके से परिवार को बढाने के लिए जन्म दर में कम से कम तीन साल का अंतर जरुर रखना चाहिए. और उन्हे इसके लिए गर्भनिरोधक और कन्डोम का इस्तेमाल करना चाहिए।

READ  वर्षा ऋतु पर निबंध I Essay in Rainy Season in Hindi

गरीबो के लिए स्वास्थ्य केंद्र – गरीब लोगो के लिए स्वास्थ्य केंद्र होना बहुत महत्वपूर्ण है. इतने महंगे इलाज और दवाओ के खर्चो को वह देने में असमर्थ होते है. जिनके वजह से वह स्वास्थ सुख का पूर्ण लाभ नही ले पाते है. सरकारी अस्पतालो में उनका सही ढंग से इलाज होना बहुत जरुरी है. डाक्टर उन्हे अच्छी तरह से बता पायेंगे स्वास्थ्य शिक्षा और सेक्स शिक्षा के बारे में जिनसे वह पूर्ण रुप से जागरुक भी हो पायेंगे. और अपने परिवार को छोटा और सुखी परिवार बना पायेंगे. और इससे हमारे देश की आबादी भी नही बढेगी. और सभी लोगो को पूर्ण रुप से जरुरी सामग्री उपलब्ध भी हो पायेंगी।

जनसंख्या वृद्धि कम करने के लाभ

  • जनसंख्या वृद्धि कम होने से लोगो को आवश्यक रुप से सभी चीजे मिलती रहेंगी।
  • देश में ज्यादा से ज्यादा लोग साक्षर होंगे।
  • बेरोजगारी को देश से जड़ से खत्म किया जा सकता है।
  • गरीब लोगो का सही रुप से जीवन यापन होगा।
  • महंगाई को कम करने में मदद मिलेगी।
  • माहामारी और लूट-पाट की समस्या से बचा जा सकता है।
  • आवास सभी लोगो को पूर्ण रुप से उपलब्ध होंगे।
  • ग्लोबल वार्मिंग से धरती को बचाया जा सकता है।
  • पर्यावरण प्रदूषण से देश को सुरक्षित रखा जा सकता है।
  • देश को खुशहाल और विकासशील बनाया जा सकता है।

बेहतर जीवन जीने के लिए हमे शिक्षित और स्वस्थ रहना होगा. हमारे भारत देश को ऐसे ही नागरिको कि जरुरत है जो साक्षर और स्वस्थ है. देश को तरक्की करने के लिए सभी नागरिको को पूर्ण रुप से सहयोग देना चाहिए. हमारा भारत देश एक विकासशिल देश है. और हमारा यह कर्तव्य है की हम देश को और ऊंचाई तक ले जाये।

तो दोस्तो (Population growth essay)जनसंख्या वृद्धि पर निबंंध के बारे में जानकर कैसा लगा. हमें कमेंट बॉक्स में जरुर बताये. इस लेख को ज्यादा से ज्यादा लोगो को शेयर करे. जिससे उन्हे भी जनसंख्या वृद्धि के बारे में पता चले. और वह भी इस अभियान में अपना अहम योगदान दे. ऐसे ही महत्वपूर्ण जानाकारी पाने के लिए रोजाना आप हमारे वेबसाइट पर जरुर आये|

इसे भी पढे़-

यदि आपको यह लेख पसंद आया हो तो कृपिया Today’s Era Hindi Website से जुड़े रहिये धन्यवाद!

error: Content is protected !!