मोहल्ले की सफाई हेतु पत्र I Nagar Nigam Ko Application

दोस्तो आज हम जानेगे की मोहल्ले की सफाई हेतु पत्र (Nagar Nigam Ko Application) कैसे लिखते है? यदि आपको नही पता है तो यह लेख पढ़कर आपको पूरी जानकारी प्राप्त हो जायेगी|

मोहल्ले की सफाई हेतु पत्र| Nagar Nigam Ko Application | मोहल्ले की सफाई हेतु नगर पालिका अध्यक्ष के पास पत्र

मोहल्ले की सफाई हेतु पत्र Nagar Nigam Ko Application 

दोस्तों आप सभी जानते है कि, आजकल के समय में अपने आसपास की जगह को साफ़ रखना कितना महत्वपूर्ण होता है। लेकिन कुछ लोग अपने घर को तो साफ रखते है। लेकिन कुछ मोहल्ले को न तो साफ रखते है, और न ही अपने मोहल्ले को साफ करवाते है। जिससे बहुत सी बीमारियों का जन्म होता है। गंदे इलाके में रहने की वजह से लोगो को बहुत गम्भीर बीमारिया हो सकती है, जैसे कि डेंगू , मरेलरिया और भी इसी प्रकार के भयंकर बीमारियों का सामना करना पड़ता है।

लेकिन इनका काऱण यह भी है कि, कभी कभार सफाई कर्मचारी अपना काम नहीं सही प्रकार नहीं करते या फिर वह सफाई करने आते ही नहीं, और उनकी वजह से मोहल्ले में गंदगी होने का कारण बन जाता है।

मोहल्ले में जगह-जगह गंदगी का अंबार व नाली जाम नगर परिषद क्षेत्र के वार्ड संख्या 30 की पहचान बनी हुई है। इस वार्ड में नियमित साफ-सफाई नहीं होने से मोहल्ले की गलियों में कचरा पसरा रहता है। इसके साथ ही नाली मैं करकट हमेशा जाम रहता है। जागरण आपके द्वार कार्यक्रम के तहत रविवार को जागरण की टीम नगर परिषद क्षेत्र के इस वार्ड में पहुंची। जहां लोगों की समस्याओं की पड़ताल की गई। अधिकांश लोगों की समस्या एक जैसी सुनने को मिली। लोगों ने बताया कि, मोहल्ले की नियमित साफ-सफाई नहीं कराई जाती है।

जिसके कारण मोगलाखार व अंसार नगर के कुछ इलाका में जगह-जगह गंदगी का अंबार लगा रहता है। नाली हमेशा जाम पड़ी रहती है। जाहिर है कि गंदगी एवं गंदी नालियों की वजह से मच्छर पैदा हो जाते हैं एवं गंदगी के कारण मच्छरों का प्रकोप भी काफी बढ़ गया है। बीमारी फैलने की भी आशंका बनी रहती है। साफ-सफाई के लिए वार्ड पार्षद से कई बार शिकायत की गई। लेकिन पार्षद द्वारा इस पर कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है। लोगों ने बताया कि, जलस्तर में गिरावट आने से मोहल्ले में लगा कई सरकारी चापाकल खराब पड़ा है। घर में लगा चापाकल से भी पानी गिरना बंद हो गया है।

यह भी पढ़ें   हिंदी में एफआईआर कैसे लिखें | FIR Kaise Likhen in Hindi

सबमर्सिबल मोटर से भी सुबह व देर रात पानी गिरता है। प्रेशर कम रहने के कारण पर्याप्त पानी नहीं मिल पा रहा है। हर-घर नल-जल योजना के तहत करीब 60 फीसद इलाका में पाइप बिछाया गया है। लेकिन पानी आपूर्ति शुरू नहीं किया गया। पेयजल के लिए इधर-उधर भटकना पड़ रहा है। परंतु अभी योजना अनुसार पर्याप्त पानी नहीं मिल पा रहा है, एवं दूसरे के घरों से पानी लाना पड़ रहा है।

 वार्ड पार्षद कहकर तो जाते है कि, मोहल्ले की नियमित साफ-सफाई कराई जाती है। लोगों द्वारा घर का कचरा प्लास्टिक में जमा कर इधर-उधर फेंक दिया जाता है। साथ ही प्लास्टिक में कचरा को जमा कर नाली में डाल दिया जाता है। जिसके कारण गंदगी फैलती है। इसके लिए लोगों को जागरूक होना होगा। तभी गंदगी से निजात मिल सकेगा।

Mohlle ki safai het patra

जलस्तर में गिरावट आने से चापाकल से पानी गिरना बंद हो गया है। हर-घर नल-जल योजना के तहत 60 फीसद इलाका में पाइप बिछाया गया है। बाकी बचे इलाका में बहुत जल्द पाइप बिछाकर पानी आपूर्ति शुरू कराया जाएगा। रोशनी के लिए गलियों में लाइटें लगाई गई है। कुछ लाइटें खराब है। जिसे बहुत जल्द बदला जाएगा। मोहल्ले में विद्युत पोल लगाने के लिए विभागीय पदाधिकारी से कई बार शिकायत किया गया। लेकिन समस्या जस का तस बना है। वार्ड के विकास के लिए हरसंभव प्रयास किया जा रहा है।

ऐसे में हम सरकारी दफ्तर में सफाई के लिए पत्र लिखकर उन्हें उनका काम याद दिलवा सकते हैं। ताकि वह समय से आकर मोहल्ले की सफाई करें। और हम अपने साथ-साथ अपने परिवार की रक्षा भी कर सकें। क्योंकि जितनी गंदगी हमारे आसपास रहेगी उतनी ही बीमारियां हमें होंगी, और यह है हमारे और हमारे परिवार के लिए बहुत खतरनाक साबित हो सकता है।

तो आइए आपको बताते है कि, आपको पत्र कैसे लिखना चाहिए ताकि आप अपनी समस्या के बारे में  नगर निगम को बता सके।

सेवा में,

श्रीमान कार्यकारी अधिकारी,

नगर निगम , मंगोलपूरी (नई दिल्ली )

विषय: मोहल्ले की सफाई हेतु

मान्यवर, 

हम मंगोलपूरी के निवासी आपका ध्यान हमारे नगर में बढ़ रहे गन्दगी के तरफ आकर्षित करना चाहते हैं। सड़कों के किनारे कूड़ों का ढेर जमा हो रहा है , सड़कों पर  वाहनों की आवाजाही के कारण हमेशा जाम लगा रहता है, यहां तक की लोगों का पेदल चलना तक मुश्किल हो गया है। लोग अपने घर के गन्दगी को सड़कों के किनारे फेंकने पर मजबूर हो गए है। नगर में कूड़ा दान तो है लेकिन उसे फेंकने वाला कोई कर्मचारी नही है। जिसकी वजह से  कूड़ादान भर गया है , अब लोग अपनी घर के गन्दगी को सड़कों के किनारे फेंकते हैं।

कोई भी नगर निगम का कर्मचारी इन कूड़ों को ले जाने नहीं आते वह महीने में एक बार आते है लेकिन अपना काम पूरी तरह से नही करते है ऐसा लगता है कि वह ,सिर्फ कूड़ादान लगाकर भूल गए हैं। आयदिन देश में गन्दगी की वजह से नई-नई बीमारियां निकलती रहती है , हमें डर है कहीं इन कूड़ों की वजह से हमारे नगर में भी कोई बीमारी ना फ़ैल जाये। ऐसा कुछ हो इससे पहले हम नगरवासी आपको सूचित करते हैं कि आप कृपया यहां के गन्दगी को जल्द से जल्द दूर करें। और हमारे नगर के लिए कर्मचारियों को नियुक्त करे जो कूड़ेदान की गन्दगी को ले जाये। इस महत्वपूर्ण कार्य के लिए हम नगरवासी सदैव आपके आभारी रहेंगे।

यह भी पढ़ें   पिताजी को पत्र | Letter to father in hindi

सधन्यवाद।

मंगोलपूरी निवासी

(नई दिल्ली )

दिनांक –       

आज की पोस्ट के माध्यम से आपने जाना की Nagar Nigam Ko Application-मोहल्ले की सफाई हेतु Patra और आपको इस पोस्ट के द्वारा हमने Nagar Nigam Ko Application-मोहल्ले की सफाई हेतु Patra In Hindi के बारे में भी बताया। आशा करते है की आपने इस पोस्ट के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त की होगी।

Nagar Nigam Ko Application-मोहल्ले की सफाई हेतु Patra  In Hindi यह भी आज आपको पता चला। इस पोस्ट की जानकारी आप अपने Friends को भी दे। तथा Social Media पर भी यह पोस्ट Nagar Nigam Ko Application-मोहल्ले की सफाई हेतु Patra? In Hindi ज़रुर Share करे। जिससे और भी ज्यादा लोगों के पास यह जानकारी पहुँच सके।

हमारी पोस्ट Nagar Nigam Ko Application-मोहल्ले की सफाई हेतु Patra में आपको कोई परेशानी है या आपका कोई सवाल है, इस पोस्ट के बारे में तो Comment Box में Comment करके हमसे पूछ सकते है। हमारी Team आपकी Help ज़रुर करेगी।

यदि आप हमारी Website के Latest Update पाना चाहते है, तो आपको हमारी Hindi TodaysEra की Website को Subscribe करना होगा। फिर मिलेंगे आपसे ऐसे ही पत्र लेखन की जानकारी लेकर तब तक के लिए अलविदा दोस्तों हमारी पोस्ट पढ़ने के लिए धन्यवाद, आपका दिन शुभ हो।

error: Content is protected !!