MPIN Kya Hai | एमपिन (MPIN )क्या है और इसे कैसे प्राप्त करेंI मोबाइल बैंकिंग में एमपिन का महत्व

दोस्तो आज हम एमपिन क्या है (MPIN Kya Hai) और इसे कैसे प्राप्त करें ? के बारे में जानेंगे, यदि आपको नही पता है की एमपिन क्या है और इसे कैसे प्राप्त करे? तो इस लेख में आपको पूरी जानकारी मिलने वाली है|

एमपिन क्या है और इसे कैसे प्राप्त करे? मोबाइल बैंकिंग में एमपिन का महत्व MPIN Kya Hai

एमपिन (mPin) क्या है और इसे कैसे प्राप्त करें

जैसा की आप सब ये  जानते हैं की हमारे भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी का यह सपना है कि भारत को डिजिटल बनाया जाए। जिससे हर एक व्यक्ति को घर बैठे बैठे सारी सुविधाओं का ऑनलाइन लाभ उठा सके। ऐसे में ट्रांसक्शन को कैशलेस बनाने के लिए हमारे पास सबसे बेहतर ऑप्शन मोबाइल बैंकिंग या इंटरनेट बैंकिंग होता है। बहुत से लोग इंटरनेट बैंकिंग एवं अन्य ऐप का यूज करना नहीं जानते हैं।

जब भी हम किसी ऑनलाइन एप्लीकेशन का इस्तेमाल करते हैं तो हमें बहुत सी चीजों का याद रखना बहुत आवश्यक होता है ताकि हमारी ऑनलाइन ट्रांजैक्शन सफल हो सके। जब भी आप मोबाइल बैंकिंग का इस्तेमाल करते होंगे तो आपसे एमपिन एंटर करने को कहा जाता है। लेकिन क्या आप जानते हैं की आखिर एमपिन क्या है? इसे कैसे जेनरेट किया जाता है और यदि कभी भी एमपिन भूल जाएँ  और इसे कैसे प्राप्त करें? तो आइए आपको बताते है।

एमपिन क्या है? (What is MPIN?)

जब आप मोबाइल का उपयोग कर कोई ट्रांसक्शन करते है तो यह एक पासवर्ड के रूप में काम करता है।यह 4 अंकों (कुछ बैंकों में 6 अंक) का एक सीक्रेट कोड  होता है जो ए.टी.एम पिन कोड जैसा ही होता है लेकिन |लेकिन यह ए.टी.एम पिन से अलग होता है।एमपिन का इस्तेमाल सिर्फ तब होता है जब आप मोबाइल के जरिए पैसों का लेन देन ऱखते है।

यह ध्यान रखें, की यह एक सेंसिटिव कोड है।आपको इसे हमेशा संभाल कर रखना चाहिए। इसे कहीं भी लिखकर न रखें।बैंक अपने ग्राहकों को इस कोड को तब देते हैं जब वे मोबाइल बैंकिंग  के लिए रजिस्टर करते हैं।आप अपने एमपिन को यू.पी.आई और यू.एस.एस.डी बैंकिंग का उपयोग कर इसको सेट कर सकते हैं।

एमपिन को कैसे प्राप्त करें? 

एमपिन को  पाने के लिए आपको मोबाइल बैंकिंग के लिए रजिस्टर होना पड़ेगा।जब आप मोबाइल बैंकिंग के लिए रजिस्ट्रेशन करवाते हैं तो बैंक आपको यूजर आईडी के साथ आपका एमपिन देता है।आप अपना एमपिन यू.एस.एस.डी और यू.पी.आई ऐप्स के द्वारा भी बना सकते हैं।इसे यू.एस.एस.डी बैंकिंग और यू.पी.आई ऐप्स के जरिए क्रिएट करना बहुत  ही आसान है।

यू.एस.एस.डी से एमपिन जेनरेट करना:  

    • अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर से *99# पर डायल करें।
    • अगली स्क्रीन पर अपने बैंक का तीन अक्षरों वाला नाम या आई.एफ.एस.सी के शुरुआती चार अक्षर या बैंक के संख्या कोड के शुरुआती दो अक्षर डालें और भेज दें।
    • अगली स्टेप में 7 लिखें और फिर से भेज दें।
    • एमपिन जेनरेट करने के लिए 1 लिखें और भेज दे।
    • दिए गए निर्देशों के अनुसार एमपिन जेनरेट करें।

MPIN का उपयोग: (Uses of MPIN)

मोबाइल बैंकिंग  में एमपिन एक बहुत ही जरूरी  कोड होता है।यह केवल अपने मोबाइल  का उपयोग कर धन ट्रांसफर के लिए होता है। यह निम्नलिखित ट्रांसक्शन मोड  में प्रयोग किया जाता है

    • मोबाइल ऐप बैंकिंग 
    • एस.एम.एस
    • यू.एस.एस.डी बैंकिंग
    • यू.पी.आई ऐप्स
    • आई.एम.पी.एस
    • आई.वी.आर

 MPIN कैसे बदलें? (How to Chage MPIN)

    • अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर से *99# डायल करें
    • अगली स्क्रीन पर अपने बैंक का तीन अक्षरों वाला नाम या आई.एफ.एस.सी के शुरुआती चार अक्षर या बैंक के संख्या कोड के शुरुआती दो अक्षर डालें और भेज दें।
    • अगली मेनू में 7 लिखें और फिर से भेज दें।
    • एमपिन बदलने के लिए 2 लिखें और भेजें।
    • अगली स्क्रीन पर पुराना एमपिन, नया एमपिन  डालें, कन्फर्म करें और सबमिट कर दें।

MPIN क्यों जरुरी है? इसकी क्या आवश्यकता है?

बैंक से होने वाले लेनदेन के लिए दो स्तर की सुरक्षा होनी जरुरी होती है। जिस प्रकार आपको एटीएम से लेनदेन करते समय पहले स्तर की सुरक्षा आपका एटीएम और दूसरे स्तर की सुरक्षा आपका एटीएम पिन होता है। जब तक किसी के पास ये दोनों नहीं होंगे तब तक वह आपके खाते से लेनदेन नहीं कर सकता ठीक इसी प्रकार मोबाइल के द्वारा लेनदेन करते समय पहले स्तर की सुरक्षा आपका मोबाइल नंबर तथा दूसरे स्तर की सुरक्षा आपका एमपिन  होता है। इसके बिना आप या कोई और आपके खाते से लेन देन नहीं कर सकते।

MPIN भूल जाने पर क्या करें?

कई बार ऐसा होता है कि हम छोटे-छोटे नंबर याद नहीं रख पाते और  अपना MPIN भूल जाते हैं। अगर आप अपना एमपिन पिन भूल जाते है तो, आपको परेशान होने की जरूरत नही है। आप किसी भी समय एक नया एमपिन जेनरेट कर सकते हैं । आप नेट बैंकिंग, यू.एस.एस.डी बैंकिंग या फिर यू.पी.आई एप्स का इस्तेमाल करके आसानी से नया एमपिन बना सकते हैं ।

नेट बैंकिंग से नया एमपिन जेनरेट करने की प्रक्रिया सभी बैंकों में अलग अलग हो सकती है लेकिन यू.एस.एस.डी और यू.पी.आई ऐप्स की प्रक्रिया लगभग एक समान होती  है । मोबाइल बैंकिंग में एमपिन की ही तरह एम.एम.आई.डी का नाम भी आपके सामने आया होगा। ये भी बिना खाता नंबर के पैसा भेजने के काम आता है।

Also Read:- नरेगा जॉब कार्ड सूची 2019-20 में अपना नाम जांचें I NREGA Job Card List 2020

यह भी पढ़ें   What are Term Life Insurance Plan in Hindi | टर्म लाइफ इंश्योरेंस प्लान क्या है?

आज की पोस्ट के माध्यम से आपने जाना की एमपिन क्या है और इसे कैसे प्राप्त करे ? और आपको इस पोस्ट के द्वारा हमने एमपिन क्या है और इसे कैसे प्राप्त करे ?के बारे में भी बताया। आशा करते है की आपने इस पोस्ट के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त की होगी।

इस पोस्ट की जानकारी आप अपने Friends को भी दे। तथा Social Media पर भी यह पोस्ट ज़रुर Share करे। जिससे और भी ज्यादा लोगों के पास यह जानकारी पहुँच सके।

अगर आपको हमारी यह पोस्ट पसंद आई है तो इस पोस्ट को फेसबुक, InstagramTwiiter और Pintrest पे share करें

ऐसे ही रोजाना जानकारी पाने के लिए जुड़े रहे hindi.todaysera.com/ के साथ।

error: Content is protected !!